कोरिया

दोनों नगर पालिका में चुनाव न हो चुनाव- सर्व आदिवासी समाज
25-Nov-2021 5:24 PM (55)
दोनों नगर पालिका में चुनाव न हो चुनाव- सर्व आदिवासी समाज

चुनाव को लेकर न उत्साह और न ही कोई खुशी, पसरा है सन्नाटा

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बैकुंठपुर (कोरिया) 25 नवम्बर।
छग राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा 15 नगरीय निकायों में चुनाव की तारीख घोषित कर दी है। इसके साथ ही नगरीय निकाय चुनाव की बिगुल बज गया। वहीं सर्व आदिवासी समाज कोरिया जिले के भेदभावपूर्ण विभाजन को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग के आयुक्त को पत्र देकर जिले के दोनों नगरीय निकायों में चुनाव नहीं कराए जाने की मांग की है।

सर्व आदिवासी समाज कोरिया तथा कोरिया बचाव मंच के पदाधिकारियों के द्वारा आयुक्त राज्य निर्वाचन आयोग को एक ज्ञापन सौंपकर यह बताया कि कोरिया जिले का विभाजन मुख्यमंत्री द्वारा करने की घोषणा के बाद नया जिला मनेंदगढ़ चिरमिरी भरतपुर बना जिसके सीमाओं का निर्धारण किया गया। तब कोरिया के लोगों द्वारा अन्यायपूर्ण परिसीमन का आरोप लगातं हुए सर्व दलीय बैठक कोरिया बचाव मंच के तत्वाधान में किया गया, जिसमें गलत परिसीमन को लेकर प्रमुख राजनीतिक दलों द्वारा नगरीय निकाय चुनाव के बहिष्कार की घोषणा सार्वजनिक रूप से की गयी, जिसे लेकर कोरिया जिले में नगरीय निकाय चुनाव नहीं कराये जाने की मांग राज्य चुनाव आयुक्त से की गयी।

कोरिया जिले में नगर पालिका बैकुंठपुर तथा नपा शिवपुर चरचा में होना है।  इसके पूर्व ही भाजपा कांग्रेस के जिला अध्यक्ष के साथ गोगपा के प्रदेशाअध्यक्ष द्वारा नगरीय निकाय चुनाव का बहिष्कार करने की घोषणा जन भावनाओं के अनुरूप लिया गया है।

आयुक्त राज्य चुनाव आयोग को सौंपे ज्ञापन में उल्लेख किया गया है कि 16 नवम्बर को सर्वदलीय एवं आम नागरिकों द्वारा एक बैठक  आयोजित कर नगरीय निकाय चुनाव का बहिष्कार किया जायेगा। राजनीतिक दलों द्वारा निर्णय लिया गया कि वे अपने पार्टी की ओर से पार्षद अध्यक्ष का प्रत्याशी नहीं उतारेंगे।

दोनों नगरीय निकाय में सन्नाटा
राज्य चुनाव आयोग द्वारा चुनावी तारीख का ऐलान करने के बाद भी कोरिया जिले के दोनों नगरीय निकाय शिवपुर चरचा तथा बैकुंठपुर में सन्नाटा है। कही पर भी चुनावी शोरगुल नहीं सुनाई दे रही है और न ही तैयारियां ही दिखाई दे रही है सिर्फ जिला प्रशासन द्वारा अपनी तैयारी शुरू कर दी गयी है। चुनाव के पूर्व जो उत्साह देखा जाता है वो एकदम नदारद है। शिवपुर चरचा व बैकुंठपुर नगर पालिका क्षेत्र के वार्डों में किसी प्रकार की चुनावी हलचल नहीं दिखाई दे रही है। लोगों द्वारा इस बात की चर्चा की जा रही है कि आगे क्या होगा। उल्लेखनीय है कि 27 नवंबर से नाम निर्देशन पत्र मिलना शुरू हो जायेगा और 3 दिसंबर तक नामांकन प्राप्त करने का अंतिम दिन निर्धारित किया गया है। इस बीच ही पता चल सकेगा कि क्या होगा। हालांकि राजनीतिक दलों से जो नहीं जुड़े है उन्हें चुनावी मैदान में रोका नहीं जा सकता ऐसे में कई लोग चुनाव में निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर उतरने की तैयारी में है।

करोड़ों के विकास कार्य की घोषणा
चुनावी तारीख घोषित होने के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बधेल द्वारा वर्चुअल रूप से जिले के नगरीय निकाय बैकुण्ठपुर तथा शिवपुर चरचा में करोड़ों रूपये के विकास कार्य की स्वीकृति प्रदान की गयी है। नगरीय निकाय चुनाव के पूर्व मुख्यमंत्री द्वारा जिले के दोनों नगरीय निकाय चुनाव के पूर्व करोड़ों के विकास कार्य की सौगात देकर दोनों नगरीय निकाय क्षेत्र के मतदाताओं को रिझाने की कोशिश की गयी है। इस बात को निकाय क्षेत्र की जनता भी बखूबी जान रही है लेकिन कही न कही लोगों के मन में गलत तरीके से जिले के विभाजन का  दर्द भी सता रहा हैं।

तारीख ऐलान के बाद भी मतदाता खामोश
शिवपुर चरचा व बैकुंठपुर नगर पालिका क्षेत्र के मतदाता चुनाव की तारीख का ऐलान होने के बाद खामोश है। दोनों नगरीय निकाय के वार्डों में सन्नाटा है किसी तरह की चुनावी हलचल नही दिख रही है। हालांकि मतदाता चुनाव तिथि को अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे लेकिन यह तय है कि कोरिया जिले के विभाजन के बाद जिले के लोगों में अन्याय पूर्ण विभाजन को लेकर रोष है जिसका असर आगामी नगरीय निकाय चुनाव में भी देखने को मिल सकता है यदि इसी तरह की स्थिति बनी रहती है तो कांग्रेस को नुकसान पहुंच सकता है। दोनों नगरीय निकाय के ज्यादातर मतदाता भी गलत परिसीमन को लेकर नाराज है। जिसका असर आगामी चुनाव में साफ दिख सकता है।
 

अन्य पोस्ट

Comments