बीजापुर

आधे बजट से पूरे मजदूरों को भुगतान करने की तैयारी
25-Nov-2021 8:52 PM (46)
आधे बजट से पूरे मजदूरों को भुगतान करने की तैयारी

 

साल भर से अटका रहा करोड़ों का भुगतान

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बीजापुर, 25 नवंबर।
करीब एक साल से लंबित बांस कटाई के मजदूरी भुगतान की आधी राशि वन मुख्यालय ने बीते दिनों आनन-फानन में जारी कर दी है। अब इसी आधी राशि से पूरे मजदूरों को भुगतान करने की तैयारी विभाग कर रहा है।

इस संबंध में वनमंडलाधिकारी अशोक पटेल ने बताया कि तकनीकी खामी की वजह से मजदूरी भुगतान में देर हुई है। उन्होंने बताया कि बुधवार को 95 लाख रुपये भुगतान के लिए आ गया है। जिसका वितरण  शुक्रवार से प्रारंभ होगा। बची राशि भी जल्द आ जाएगी और आगामी 15 नवंबर तक पूरी राशि का वितरण मजदूरों को कर दिया जाएगा।

मिली जानकारी के मुताबिक बीजापुर वन मंडल के अंतर्गत आने वाले उत्पादन क्षेत्र के छह बांस कूपों से 798356 बांस की कटाई की गई थी। इसमें करीब 12 सौ मजदूर लगे रहे। बांस कटाई के साल भर बीतने को है, लेकिन उन्हें मजदूरी भुगतान बजट के अभाव में नहीं किया गया था। मजदूरों ने कई बार इसकी शिकायत स्थानीय विधायक, कलेक्टर व डीएफओ से मिलकर की थी। साथ ही जल्द  भुगतान  न होने की स्थिति में पूर्व वनमंत्री महेश गागड़ा ने भी आंदोलन की चेतावनी दी थी। इसके बाद बुधवार को वन मुख्यालय ने आनन-फानन में 1करोड़ 68 लाख रुपये में 95 लाख रुपये जारी कर भुगतान करने का निर्देश जारी कर दिया। अब वन अमला शुक्रवार से आधी राशि को पूरे मजदूरों में वितरण करने की तैयारी कर रहा है।

उल्लेखनीय है कि यहां उत्पादन क्षेत्र के छह कूपों से व्यापारिक व औद्योगिक बांसों की कटाई की गई है। मट्टीमरका, बंदेपारा, सोमनपल्ली, उल्लूर, दमपाया व इन्द्रावती कूपों से कुल 798356 बांसों को सुरक्षित तरीके से काटकर इसका परिवहन भी कर दिया गया है, लेकिन इस काम में लगे करीब 12 सौ मजदूरों को 1 करोड़ 68 लाख रुपये का मजदूरी भुगतान अब तक नहीं किया गया था। मजदूरी भुगतान नहीं होने से परेशान मजदूर अधिकारियों के चक्कर लगाते भटक रहे थे। भुगतान नहीं होने के पीछे विभाग तकनीकी खामी को वजह बता रहा था। अब इस माह से फिर से बांस कटाई का काम शुरू होना है। ऐसे में पूरा भुगतान नहीं होने से मजदुर  बांस कटाई से दुरी बना सकते है। जिससे एक बार फिर बांस कटाई पर ब्रेक लग सकता है।

विभागीय आंकड़े के मुताबिक इस साल व्यापारिक कूप उल्लूर से 114195, इन्द्रावती कूप से 140300, मट्टीमरका कूप से 150455, सोमनपल्ली कूप से 105975, दमपाया कूप से 106140 व बंदेपारा कूप से 91950 बांसों की कटाई की गई थी। वही औधोगिक कूप उल्लूर से 12404, इन्द्रावती कूप से 18353, मट्टीमरका कूप से 16448, सोमनपल्ली कूप से 15050, दमपाया कूप से 15034, व बंदेपारा कूप से 1205 बांस कटाई की गई थी। इस काम में लगे करीब 12 सौ मजदूरों का 1 करोड़ 68 लाख रुपये का भुगतान लंबित रहा है। हालाँकि मजदूरी का कुछ हिस्सा पहले भुगतान कर दिया गया था।

ये हैं बांस के दर और साइज
राज्य सरकार ने बांस कटाई के लिए जो नई दर तय की है। वो बांस के साइज के आधार पर हैं। पांच प्रकार के बांस पर क्रमश: 14,16,20,35 और 50 रुपये निर्धारित की गई है। इनमें 2 सेमी के बांस पर 50 रुपये, 1 सेमी के बांस पर 35 रुपये, 7.18 सेमी के बांस पर 20 रुपये, 6.50 सेमी के बांस पर 16 रुपये व 5.50 सेमी के बांस पर 14 रुपये की दर तय की गई है।

अन्य पोस्ट

Comments