कोरिया

पर्यवेक्षकों के आगे कांग्रेस नेताओं ने जिला विभाजन पर जताई आपत्ति
27-Nov-2021 5:15 PM (69)
पर्यवेक्षकों के आगे कांग्रेस नेताओं ने जिला विभाजन पर जताई आपत्ति

प्रतिनिधिमंडल मिलेगा सीएम से

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बैकुंठपुर (कोरिया), 27 नवंबर।
कोरिया जिले के गलत विभाजन को लेकर नगरीय चुनाव के बहिष्कार पर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने दो पर्यवेक्षकों को कोरिया भेजा, दोनों की उपस्थिति में आज राजीव भवन में बैठक का आयोजन हुआ। बैठक में बैकुंठपुर और चरचा शिवपुर के कांग्रेस के पदाधिकारियों के साथ संभावित प्रत्याशियों ने खुलकर अपनी दिल की बात रखी और कोरिया के साथ हुए अन्याय हो पुरजोर तरीके से उठाया। पर्यवेक्षक पूरे मामले की रिपोर्ट प्रदेश अध्यक्ष को सौपेंगे, वहीं कांग्रेस का एक प्रतिनिधिमंडल मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से जाकर भी मिलेगा।

25 नवंबर को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया के नेतृत्व में हुई बैठक में पहुंचें कोरिया जिला अध्यक्ष नजीर अजहर बैकुंठपुर लौटे और 26 नवंबर को पूरे दिन घर से नहीं निकले, उन्होंने कह दिया कि शनिवार को प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा दो पर्यवेक्षकों को कोरिया भेजा जा रहा है, उनकी उपस्थित में बहिष्कार के निर्णय को लेकर प्रेस कॉफ्रेंस करेंगे।
 शनिवार को पर्यवेक्षक जेपी श्रीवास्तव और गोपाल थवाईत पहुंचें, राजीव भवन में पर्यवेक्षकों की उपस्थिति में कांग्रेस के पदाधिकारियों की बैठक शुरू हुई। चार घंटे से ज्यादा समय चली बैठक मेें कांग्रेस के पदाधिकारियों ने कोरिया के विभाजन को लेकर खुलकर बात रखी।

उन्होंने बताया कि कोरिया का विभाजन बेहद ही भेदभावपूर्ण तरीके से किया गया है, जिसे वो कभी बर्दाश्त नहीं करेंगें, इस विभाजन से सबसे ज्यादा आहत और परेशान यहां का आदिवासी समाज हो रहा है। जिसकी बात सुनी जानी चाहिए। पर्यवेक्षकों ने सभी की बात विस्तार से सुनी। अब इस पूरी बैठक की पर्यवेक्षक रिपोर्ट तैयार करेंगे और उसे प्रदेश अध्यक्ष को सौपेंगे। इसके साथ ही मुख्यमंत्री से अब अंतिम बार मिला जाएगा, यदि कुछ बात बनती है तो ठीक नहीं तो बहिष्कार होगा।

कोरिया के प्रति लगाव
रायपुर की बैठक से वापस आए कांग्रेस जिला अध्यक्ष नजीर अजहर के बेहद तनाव में थे, 26 नवंबर को वो पूरे दिन घर से बाहर नहीं आए, दरअसल, उन्होंने सार्वजनिक तौर पर नगरीय निकाय चुनाव का बहिष्कार करने की बात कही थी, वहीं शनिवार को हुई बैठक में उनका पूरा साथ कांग्रेस के सभी पदाधिकरियों ने दिया।

वहीं सूत्रों की माने तो उनके द्वारा लिया गया बहिष्कार का फैसला पर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने मुहर नहीं लगाई। बैठक में मिली फटकार के बाद भी उन्होने कोरिया के विभाजन में कोरिया के साथ हुए गलत की बातें बिना डरे पुरजोर तरीके से रखी। उन्होंने कहा कि डेढ़ विकासखंड के जिले के निर्माण के साथ कांग्रेस को नुकसान हो सकता है।

अन्य पोस्ट

Comments