राजनांदगांव

गौठानों में आर्थिक गतिविधियों के माध्यम से महिला स्वसहायता समूह को मिले लाभ
28-Nov-2021 10:49 PM (38)
गौठानों में आर्थिक गतिविधियों के माध्यम से महिला स्वसहायता समूह को मिले लाभ

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

राजनांदगांव, 28 नवंबर। कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा ने शनिवार को अंजोरा और बघेरा के गौठान का निरीक्षण किया। उन्होंने अंजोरा के गौठान में स्वसहायता समूहों की महिलाओं से चल रही विभिन्न गतिविधियों की जानकारी ली।

उन्होंने कहा कि यह जिले का आदर्श मॉडल गौठान है। इस गौठान में अधिक से अधिक गतिविधियां होनी चाहिए। जिससे समूहों को आमदनी प्राप्त हो सके। उन्होंने विभिन्न उत्पादों के विक्रय के लिए मार्केट लिंकेज करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। उन्होंने कहा कि गौठान में गोबर से पेंट बनाने की योजना प्रस्तावित है, इसकी व्यवस्था के लिए तैयारी की जाए। उन्होंने स्वसहायता समूह की महिलाओं से चर्चा की।

 महिलाओं ने बताया कि गौठान में मशरूम का उत्पादन किया जा रहा है। अब तक 17 किलो मशरूम का विक्रय कर लिया गया है, वहीं गेंदा फूल, विभिन्न प्रकार की सब्जी, पपीता जैसे फलों का उत्पादन किया जा रहा है। वहीं मछली पालन भी किया जा रहा है, जिससे आमदनी हो रही है। उन्होंने बताया कि गौठान की लोकप्रियता को देखते अनेक लोग गौठान देखने के लिए यहां आते हैं।

कलेक्टर सिन्हा ने ग्राम बघेरा के गौठान में निर्माणाधीन कुक्कुटपालन और मशरूम शेड जल्द पूरा करने के निर्देश दिए। वहीं गौठान में साफ-सफाई और रंगरोगन का कार्य करें। स्वसहायता समूह के कार्य क्षेत्र और पशुओं के चरने का क्षेत्र अलग-अलग रखें। गौठान में छाया के लिए पेड़ लगाने के निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि गौठान में 4 से 5 गतिविधियां प्रारंभ होनी चाहिए। कुक्कुटपालन, मशरूम उत्पादन, मछलीपालन, सिलाई-कढ़ाई सहित विभिन्न गतिविधियां प्रारंभ कराएं। जिससे समूहों को अच्छी आमदनी मिल सके। उन्होंने वहां 5 एकड़ क्षेत्र उत्पादित शहतूत के पौधे का निरीक्षण किया।

इस अवसर पर जिला पंचायत सीईओ लोकेश चंद्राकर, सुनील वर्मा, भूपेन्द्र मिश्रा, जनपद सीईओ एसके ओझा सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

 

अन्य पोस्ट

Comments