रायपुर

मोदी सरकार की नीतियों के खिलाफ निर्णायक लड़ाई लड़ेगी माकपा
29-Nov-2021 6:53 PM (56)
 मोदी सरकार की नीतियों के खिलाफ निर्णायक लड़ाई लड़ेगी माकपा

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 29 नवम्बर। माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी का तेरहवाँ जिला सम्मेलन साथी समीर बनर्जी नगर(सत्यनारायण धर्मशाला) के साथी अब्दुल सलाम -साथी शिव चौहान मंच में सम्पन्न हुआ।

सम्मेलन का प्रारम्भ वरिष्ठ आदिवासी नेता व पार्टी के राज्य समिति सदस्य  साथी रूपधर ध्रुव द्वारा  पार्टी ध्वज के झंडोत्तोलन  के साथ  हुआ। इसके बाद विभिन्न संघर्षों में  तथा शहीद किसान साथियों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई और सभी साथियों ने शहीद बेदी पर पुष्प अर्पित किए। सम्मेलन का  उद्घाटन राज्य सचिव मंडल सदस्य एम के नंदी एवं समापन भाषण  धर्मराज महापात्र ने दिए। 

साथी एमके नंदी ने कहा कि केंद्र की सत्ता में बैठी नरेन्द्र मोदी सरकार के फासीवादी तौर तरीकों के चलते देश की आजादी, संविधान, देश के गरीब जनता, मजदूर, किसान सब खतरे में हैं। देश को बचाने के संघर्ष सिर्फ और सिर्फ किसान और मजदूरों के द्वारा ही सम्भव है, उन्होंने किसानो के आंदोलन और संघर्ष के रेखांकित करते हुए कहा कि मजदूरों और किसानों का मजबूत संगठन ही देश के फासीवादी और साम्प्रदायिक सरकार से लड़ सकती है। उन्होंने पार्टी के सदस्यों को संगठन की मजबूती के लिए जुटने का आव्हान किया ।

सम्मेलन का समापन भाषण करते हुए माकपा राज्य सचिव मंडल सदस्य साथी धर्मराज महापात्र ने कहा कि मार्क्सवादी वोममुनिस्ट पार्टी ही जनता की वास्तविक समस्याओ तथा मोदी सरकार की नव उदार वादी नीतियों और उनकी साम्प्रदायिक विभाजन कारी षड्यंत्रो के खिलाफ लड़ाई  निर्णायक रूप से लड़ सकती है इसलिए माकपा को राजनीतिक और सांगठनिक रूप से मजबूत करने पार्टी के जन अभियानों तथा जनसंगठनों को मजबूत करना होगा उन्होंने कहा कि पार्टी को हर स्तर पर छात्रों युवाओ मजदूरों किसानों को संगठित करने सक्रिय पहल करनी होगी।

उन्होंने करोना अवधि तथा सी ए ए कें खीलाफ  पार्टी के अभियानों की सराहना करते हुए कहा कि पार्टी को प्रदेश की कांग्रेस सरकार द्वारा किए गए वादे के  पूर्ण करने के लिए भी जनदबाव कायम करना होगा । उन्होंने सांप्रदायिकता के खिलाफ सतत वैचारिक अभियान का आव्हान करते हुए इस मामले में कांग्रेस के ढुल मूल नीति की भी आलोचना की।

 जिला सचिव साथी प्रदीप गभने ने पिछले सम्मेलन से अब तक कि पार्टी की गतिविधियों और संगठन की  तथा आय व्यय की रिपोर्ट रखी जिसे बहस और चर्चा के बाद सर्वसम्मति से पारित किया गया । बहस में 9 साथियों ने हिस्सा लिया तथा मोदी सरकार के किसान विरोधी कृषि कानून, मजदूर विरोधी श्रम कानून, बढ़ती मंहगाई, निजीकरण की नीतियों का तीव्र प्रतिवाद करते हुए उस पर कारपोरेट परस्त होने का आरोप लगाया और संविधान की रक्षा और देश की एकता के लिए एकताबद्ध संघर्ष की अपील की ।

सम्मेलन में अगले तीन वर्षों के लिए 15 सदस्यीय जिला समिति का निर्वाचन किया गया , जिसमे प्रदीप गभने, राजेश अवस्थी, एस सी भट्टाचार्य, अजय कन्नौजे, मारोती डोंगरे, निमाई गायन, लखन वर्मा, डिंगर यादव, विभाष पैतुन्दी, अतुल देशमुख, शीतल् पतेल, चंद्र शेखर ठाकुर निर्वाचित किये गए तथा रूपधर ध्रुव को विशेष आमंत्रित सदस्य चुना गया । प्रदीप गभने इसके सचिव चुने गए । तीन स्थान रिक्त रखे गए जिसमे एक महिला के लिए आरक्षित

है ।

 सममेलन में ही 21 -22 दिसंबर को कोरबा में होने जा रहे माकपा के 13 वे राज्य सम्मेलन के लिए प्रतिनिधियों का निर्वाचन किया गया

राज्य सम्मेलन के लिए राजेश अवस्थी, अजय कन्नौजे, एस सी भट्टाचार्य, अतुल देशमुख, अंजना बाबर, शीतल पटेल, निमाई गायन विभाष पैतुन्दी , प्रदीप मिश्रा, सुरेंद्र शर्मा , लखन वर्मा डिंगर यादव, मारोती डोंगरे, चंद्र शेखर, के के साहू, नवीन गुप्ता, मनोज देवांगन , हिरामन वैष्णव, तथा वैकल्पिक सदस्य वी एस बघेल हेमन्त परमार, गणेश साहू, भौराम वर्मा सुरेस देवांगन, केशव सरकार, नंद कुमार यादव  निर्वाचित हुए

सम्मेलन की अध्यक्षता तीन सदस्यीय अध्यक्ष मंडल ने किया जिसमें, रूपधर ध्रुव, एस सी भट्टाचार्य, तथा अंजना बाबर शामिल थे । सम्मेलन में गरियाबंद, बलोदाबाजार, महासमुंद व रायपुर जिले के चुने हुए प्रतिनिधि शामिल थे । सम्मेलन में साथी गणेश साहू व भाउरम वर्मा ने जनगीत प्रस्तुत किए ।

अन्य पोस्ट

Comments