सरगुजा

अकेले रहने से बेहतर लोगों को एकजुट रखिये-रामकमल दास
29-Nov-2021 8:35 PM (66)
अकेले रहने से बेहतर लोगों को एकजुट रखिये-रामकमल दास

श्री गणेश महायज्ञ में पहुंचे पंचायत मंत्री

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
उदयपुर, 29 दिसंबर।
यज्ञ स्थल महेशपुर में जगतगुरु द्वाराचार्य डॉ. रामकमल दास वेदांती जी काशी बनारस से अपनी टीम के साथ यज्ञ में शामिल हुए, इनके द्वारा दोपहर में प्रवचन प्रस्तुत किया गया। इस दौरान काफी संख्या में लोग इन्हें सुनने के लिए मौजूद रहे।

प्रवचन के दूसरे और तीसरे दिन इन्होंने यज्ञ की महिमा का बखान करते हुए कहा कि यज्ञ से धर्म संस्कृति और सृष्टि की रक्षा होती है। अपने धर्म और राष्ट्र के प्रति निष्ठावान होने की बात इनके द्वारा कही गयी। इन्होंने यह भी कहा कि कलयुग में संघ की शक्ति महत्वपूर्ण है। अकेले रहने से बेहतर लोगों को एकजुट रखिये, साथ रहिये, आपको कोई तोड़ नहीं पायेगा।

श्री श्री 108 स्वामी रामदास जी महाराज के नेतृत्व में 22 नवंबर से आयोजित श्री गणेश महायज्ञ महेशपुर में पंचायत मंत्री टी एस सिंहदेव रविवार को दोपहर 1 बजे करीब पहुंचे तथा यज्ञ आयोजनकर्ता से मुलाकात कर आयोजन के बारे में जाना और लगभग आधे घंटे तक चर्चा की। खाद्य मंत्री अमरजीत भगत एवं सामरी विधायक चिंतामणि महाराज भी यज्ञ स्थल महेशपुर एक दिन पूर्व आ चुके हैं।

उक्त श्री गणेश महायज्ञ में नेता मंत्री व देश भर से साधु संतों के आने का सिलसिला जारी है। अब तक 1000 के करीब साधु संत आ चुके। कुछ साधु महात्माओ की वापसी भी हो चुकी है। कलश यात्रा के साथ प्रारंभ हुई श्री गणेश महायज्ञ में लोगों की भारी भीड़ देखी जा रही है।

महेशपुर यज्ञ में जूना अखाड़ा निर्मोही अखाड़ा दिगंबर अखाड़ा आनंद अखाड़ा आवाहन अखाड़ा के साधु संत पधार चुके हैं। श्री श्री 1008 महामंडलेश्वर अमरदास जी महाराज द्वारा भी प्रवचन प्रस्तुत किया जा रहा है।

सुबह 9 बजे यज्ञ मण्डप की परिक्रमा से यज्ञ प्रारंभ होकर शाम 5 बजे तक आयोजित किया जा रहा है। एक दिसम्बर को यज्ञ की पूर्णाहुति है जिसमें हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं के शामिल होने का अनुमान है।

विभिन्न अखाड़ों से आए नागा साधुओं द्वारा सुबह 10 बजे से अपनी प्रस्तुति दी जा रही है। महंत पवन गिरी अपने सुमधुर भजनों से श्रद्धालुओं को खासा आकर्षित कर रहे हैं। यज्ञ स्थल के समीप काफी संख्या में पुलिसकर्मियों की ड्यूटी भी लगाई गई है। अव्यवस्था से बचने के लिए यज्ञ स्थल से दूर वाहनों के पार्किंग की व्यवस्था की गई है सभी साधु संतों एवं श्रद्धालुओं के लिए है भंडारे की व्यवस्था भी प्रतिदिन हो रही है।

अन्य पोस्ट

Comments