बीजापुर

कांग्रेस सरकार नहीं चाहती बस्तर की बेटियां सशक्त हो - गागड़ा
30-Nov-2021 4:55 PM (66)
कांग्रेस सरकार नहीं चाहती बस्तर की बेटियां सशक्त हो - गागड़ा

पूर्व मंत्री ने सरकार पर साधा निशाना

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बीजापुर, 30 नवंबर।
पूर्व वन मंत्री महेश गागड़ा ने आरोप लगाया है कि प्रदेश की कांग्रेस सरकार ठेकेदारों को फायदा पहुंचाने रेडी टू ईट का काम महिला समूहों से लेकर बीज निगम को देने की तैयारी कर रही है। इससे जाहिर होता है कि सरकार नहीं चाहती महिलाएं व बस्तर की बेटियां सशक्त हो।

पूर्व विधायक महेश गागड़ा ने बयान जारी कर कहा कि रेडी टू ईट का काम महिलाओं से सरकार छीन रही है। राज्य सरकार ने 22 नवंबर के मंत्री परिषद की बैठक में फैसला लिया है कि आगामी फरवरी 2022 से महिला समूहों से रेडी टू ईट का काम वापस लेकर इसे राज्य बीज निगम दे दिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने महिलाओं को आर्थिक सामाजिक रूप से मजबूत करना चाहती थी, इसलिए समूह के माध्यम से रेडी टू ईट का काम उन्हें दिया गया था। लेकिन कांग्रेस सरकार को प्रदेश की महिलाओं की कोई चिंता नहीं है। बल्कि उन्हें अपने फायदे की चिंता है। इसीलिए सरकार बीज निगम को काम देकर फायदा उठाना चाहती है। श्री गागड़ा ने अपने बयान में कहा कि बस्तर की महिलाएं स्वरोजगार से मुनाफा कमा रही थी। सिर्फ बस्तर में ही रेडी टू ईट के काम से सालाना 12 करोड़ रुपये का कारोबार करती थी और यही बात सीएम व कांग्रेस को हजम नहीं हुई। कांग्रेस नहीं चाहती कि बस्तर की बेटियां सशक्त बने।

श्री गागड़ा ने महिलओं से रेडी टू ईट का काम वापस लेने पर सवाल उठाते हुए कहा कि अगर सरकार पोषण आहार में क्विलिटी लाना चाहती है तो फिर क्यों विशेषज्ञों की रिपोर्ट को झुठलाकर दरकिनार किया गया। जबकि विशेषज्ञ कह रहे है कि महिलाओं द्वारा तैयार किया जा रहा रेडी टू ईट के क्वालिटी में अब तक कोई गिरावट नहीं आई है। बावजूद क्वालिटी का बहाना बनाकर सरकार ने महिलाओं को बेरोजगारी की राह में लाकर खड़ा किया हैं।
 

अन्य पोस्ट

Comments