गरियाबंद

भीगे धान को प्रशासन ने तिरपाल से ढंका, कलेक्टर के निर्देश पर पहुंचे अधिकारी
30-Nov-2021 6:02 PM (31)
भीगे धान को प्रशासन ने तिरपाल से ढंका, कलेक्टर के निर्देश पर पहुंचे अधिकारी

बेमौसम बारिश से नुकसान हुए धान का आंकलन कर दिया जाएगा मुआवजा

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
गरियाबंद, 30 नवंबर।
पिछले दिनों बेमौसम बारिश से हुए फसल नुकसान का आंकलन कर आरबीसी- 64 के तहत शासन द्वारा निर्धारित मुआवजा दिया जाएगा। अभी हाल ही में हुए बारिश के दौरान किसानों के खेत और खलिहान में धान भीग जाने के कारण हुए नुकसान का आकलन कर प्रकरण बनाए जाएंगे।

कलेक्टर निलेश क्षीरसागर ने ऐसे प्रकरणों  का आंकलन कर शासन द्वारा निर्धारित मुआवजा प्रकरण तैयार करने के निर्देश दिए हैं। इसी तारतम्य में कल देवभोग के लाटापारा में रहने वाली धनमती यादव के हौसले टूटने के दर्द की कहानी प्रकाशित होने के बाद कलेक्टर ने तत्काल संज्ञान लेकर संवेदनशीलता का परिचय दिया और आरबीसी 6-4 के तहत तत्काल प्रकरण बनाकर मुआवजा तैयार करने निर्देश दिए हैं।

साथ ही उनकी वर्तमान आर्थिक स्थिति को देखते हुए उनके  भीगे धान को तीरपाल से ढंकवाया गया। कलेक्टर के निर्देश पर जनपद व राजस्व के अधिकारी धनमती यादव के घर लाटापारा पहुंचे। दो घंटे तक अमला धनमती के कच्ची झोपड़ी में  रहकर उनके दर्द को साझा किया और उन्हें तत्काल राहत देते हुए भीगे हुए धान को तिरपाल से ढंकवाया गया।

तहसीलदार समीर शर्मा व जनपद सीईओ एम एल मंडावी ने बताया कि बोरो को नए तिरपाल से ढकवाया गया।  प्रशासन की इस त्वरित सवेंदना पर धनमती ने आभार व्यक्त किया है। साथ ही आवास व पेंशन की  जरूरत बताई। जनपद सीईओ ने तत्काल पंचायत सचिव से पूरी जानकारी लेकर उसे योजनाओ का लाभ  देने कहा है। इस मौके पर उनकी तात्कालिक आर्थिक स्थिति को देखते हुए अधिकारियों ने निजी आर्थिक सहायता भी दिया है।
 

अन्य पोस्ट

Comments