सरगुजा

धूमधाम से मना एनसीसी दिवस, पुराने छात्र व शिक्षक हुए शामिल
01-Dec-2021 4:53 PM (42)
धूमधाम से मना एनसीसी दिवस, पुराने छात्र व शिक्षक हुए शामिल

अम्बिकापुर, 1 दिसंबर। अंबिकापुर के एक निजी होटल में 28 नवंबर को 73वें एनसीसी दिवस के अवसर पर पूर्व छात्र सैनिकों का सम्मेलन आयोजित किया गया। जिसमें सीआरपीएफ 62 बटालियन के कमांडेंट वी राजू मुख्य अतिथि के तौर पर उपस्थित थे,साथ ही साथ एनसीसी के अधिकारी के रूप में बहुत ही लंबा अनुभव रखने वाले डॉ. भागीरथी गौराहा, के पी दीक्षित, एसएस अग्रवाल, वीके वर्मा, होलीक्रॉस की एनसीसी अधिकारी संगीता पांडे, मल्टीपरपज के एनसीसी अधिकारी नवनीत त्रिपाठी की उपस्थिति में सर्वप्रथम दीप प्रज्वलन करके कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया।

आयोजन समिति के अध्यक्ष राकेश तिवारी ने सभी आमंत्रित अतिथियों का स्वागत किया।इस आयोजन के संबंध में पूर्व में ही एक समिति का गठन किया गया था जिसमें सभी अनुभवी पूर्व छात्र सैनिक सम्मिलित है। इसी कार्यक्रम में दिल्ली से पधारे पूर्व छात्र दिनेश झा ने कार्यक्रम के बारे में विस्तार से बताते हुए एनसीसी के ग्रुप निर्माण के संबंध में एवं उसकी उपयोगिता क्या है के बारे में विस्तार से बताया। राष्ट्रीय लेवल पर भी एक एनसीसी एल्युमीना नामक ग्रुप का निर्माण किया जा रहा है जो छात्र सैनिक 6 महीने भी एनसीसी में रहा होगा चाहे वह सीनियर या जूनियर डिवीजन से हो, उसकी उपयोगिता भविष्य में क्या हो आपदा में कैसे उनका सहयोग लिया जा सके इसके लिए ग्रुप का निर्माण किया जा रहा है। उन्होंने यह भी बताया कि भारत ही नहीं बल्कि विदेशों में भी आवश्यकता पडऩे पर उनका सहयोग लिया जा सकेगा, इसीलिए इस प्रकार के ग्रुप का निर्माण किया जा रहा है।

कार्यक्रम के दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रम भी था, जिसकी प्रस्तुति एनसीसी सीनियर डिविजन की छात्राएं,संजय श्रीवास्तव के द्वारा प्रस्तुत किया गया तथा होली क्रॉस की छात्राओं के द्वारा एनसीसी सॉन्ग, प्रेयर सॉन्ग, अवंतिका आयंगर, बरखा जायसवाल पल्लव चक्रवर्ती, चित्रा बाबरा के द्वारा भी सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया।

इसी कड़ी में आरडीसी की छात्रा रजनी वैष्णव के द्वारा भी एकल नृत्य प्रस्तुत किया गया।सांस्कृतिक कार्यक्रम के दौरान ही एनसीसी के पूर्व अधिकारी डॉ. भागीरथ गौराहा ने उस वक्त की चुनौतियों को बताया और एनसीसी के छात्रों को इससे जुडऩे के लिए आग्रह किया।

ज्ञातव्य है कि गौराहा सर वर्तमान में 90 वर्ष की उम्र में हो चुकी है फिर भी वह कार्यक्रम में शामिल हुए। कमांडेंट बी राजू के द्वारा इस प्रकार के पहले आयोजन के लिए आयोजन समिति को बधाई दी और उन्होंने अपने छात्र जीवन में लिए एनसीसी के महत्व को बताते हुए आयोजन करने के लिए एनसीसी के सभी पूर्व छात्र सैनिकों को बधाई दिया तथा भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी।वह अपने परिवार के साथ पूरे समय तक कार्यक्रम में मौजूद रहे।इसी प्रकार के पी दीक्षित सर,एसएस अग्रवाल सर,वीके वर्मा सर ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया। सभी ने एक स्वर में एनसीसी के पूर्व छात्रों से सामाजिक कार्यों में बढ़ चढक़र हिस्सा लेने के लिए आह्वान किया।

इस अवसर पर वरिष्ठ पूर्व छात्र सैनिक अजय तिवारी परशुराम सोनी ,राजेश बहादुर सिंह ,दीपक श्रीवास्तव ,एस के शेषाद्री, आशीष पांडे ,सुनील सिंह, दिनेश झा ,अरुण सिंह, राकेश तिवारी, देवराज बाबरा ,संजीव पुरी , सैयदअख्तर हुसैन, अब्दुल जाकिर, संजय श्रीवास्तव न्यायालय विभाग, रघु देव नाथ, अंचल सिन्हा, प्रणव चक्रवर्ती ,जयेश वर्मा ,अनिल सिंह एसडीओ फॉरेस्ट, ब्रम्हेश श्रीवास्तव, परमानंद तिवारी ,अभय तिवारी ,सुभाष राय ,भूपेश सिंह ,मुख देव यादव तहसीलदार, त्रिभुवन सिंह सभी अपने परिवार सहित उपस्थित थे।

ज्ञातव्य है कि एनसीसी के पूर्व छात्र सैनिकों का यह इस प्रकार का पहला सम्मेलन है, जिसमें सीनियर जूनियर एवं उनके परिवार भी शामिल हुए।सभी ने इस प्रकार के आयोजन की सराहना की और भविष्य में भी इस प्रकार के आयोजन आपसी सहयोग से ही करने का निश्चय किया।

इस अवसर पर विशेष रुप से आभार डीके सिंह,संजय ठिसके राजनांदगांव,आशीष बाजपेई बिलासपुर से, इंद्रपाल सिंह जुनेजा रायपुर एवं राधा गोविंद तिवारी का विशेष सहयोग एवं मार्गदर्शन के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया गया। कार्यक्रम का संचालन अभय तिवारी एवं होलीक्रॉस से बरखा जायसवाल के द्वारा किया गया।पूरे कार्यक्रम के लिए आभार व्यक्त सैयदअख्तर हुसैन के द्वारा किया गया।
 

अन्य पोस्ट

Comments