रायपुर

मौखिक आदेश पर प्राचार्य रिलीव कर रहे शिक्षकों को, शिकायत पहुंची अधिकारियों तक
28-Nov-2022 4:22 PM
मौखिक आदेश पर प्राचार्य रिलीव कर रहे शिक्षकों को, शिकायत पहुंची अधिकारियों तक

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 28 नवम्बर।
व्याख्याताओं और शिक्षकों का ट्रांसफर तो राज्य सरकार ने कर दिया, लेकिन व्याख्याताओं-शिक्षकों को स्कूलों से रीलिविंग लेटर ही नहीं मिल पा रहा है। रीलिविंग लेटर दिए बिना जिले के कुछ स्कूलों के प्राचार्य ट्रांसफर लिस्ट में शामिल व्याख्याताओं-शिक्षकों को मौखिक आदेश पर रीलिव कर रहे है। मौखिक आदेश पर रीलिव हो रहे व्याख्याता और शिक्षक जब दूसरे स्कूलों में ज्वाइनिंग के लिए जा रहे है, तो उन्हें बिना ज्वाइनिंग दिए लौटाया जा रहा है। इधर, परेशान व्याख्याता व शिक्षकों ने विभागीय अधिकारियों को की है।

दरअसल शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने सूचना के आदान-प्रदान के लिए वाट्सएप ग्रुप बनाया है। इस वाट्सऐप ग्रुप में डीईओ  कार्यालय में पदस्थ किसी व्यक्ति ने रीलिविंग लेटर दिए बिना ट्रांसफर लिस्ट में शामिल व्याख्याता और शिक्षक को रीलिव करने का मैसेज जारी किया है। इस मैसेज को देखकर धरसींवा ब्लाक में पदस्थ कुछ प्राचार्य ने अपने स्कूलों में पदस्थ व्याख्याता-शिक्षकों को लेटर दिए बिना जाने का निर्देश दे दिया। लेटर मांगने पर वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश का पालन करने की बात बोलकर वे अब अपनी गर्दन बचा रहे हैं।

विभागीय अधिकारियों ने बताया कि रीलिविंग लेटर देने के बाद ही पदस्थ व्यक्ति को रीलिव किया जाता है। रीलिविंग लेटर के आधार पर वो ट्रांसफर पाने वाले संबंधित स्कूल में ज्वाइनिंग देता है। लेटर नहीं होने से ज्वाइनिंग प्रक्रिया में उसे परेशानी होती है। रीलिविंग लेटर देने का काम प्राचार्य का होता है। प्राचार्य संबंधित व्यक्ति को रीलिविंग लेटर देकर उसकी प्रतिलिपि जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय में भेजता है।
 

अन्य पोस्ट

Comments

chhattisgarh news

cg news

english newspaper in raipur

hindi newspaper in raipur
hindi news