राजनांदगांव

9 लाख क्विंटल का डीओ जारी, 5 लाख क्विंटल धान का उठाव
29-Nov-2022 4:59 PM
9 लाख क्विंटल का डीओ जारी, 5 लाख क्विंटल धान का उठाव

जिले में अब तक 12 लाख क्विंटल धान खरीदी
‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजनांदगांव, 29 नवंबर।
जिले में खरीफ विपणन वर्ष 2022-23 में एक नवंबर 2022 से धान खरीदी प्रारंभ की गई है। जिले में विगत वर्ष 85 धान उपार्जन केन्द्रों के माध्यम से धान खरीदी का कार्य किया गया था। इस वर्ष राज्य शासन द्वारा किसानों की सुविधा को ध्यान में रखते राजनांदगांव जिले में 4 नवीन धान उपार्जन केन्द्र झिंझारी, भोथली, कौहाकुड़ा, चिरचारीकला प्रारंभ किया गया है। इस प्रकार जिले में इस वर्ष कुल 89 उपार्जन केन्द्रों के माध्यम से धान खरीदी का कार्य किया जा रहा है। कलेक्टर डोमन सिंह के निर्देशन में जिले के प्रत्येक उपार्जन केन्द्र में नवीन बारदाना, पीडीएस बारदाना एवं राईस मिलर्स से एक भरती उपयोगी बारदाना पर्याप्त रूप से पहुंचाया गया है। प्रत्येक समिति में आगामी दिवस हेतु जारी टोकन के आधार पर धान खरीदी की जा रही है, टोकन के अनुपात में पर्याप्त बारदाना समस्त केन्द्रों में उपलब्ध है। जिले में किसी भी प्रकार का बारदाना संकट नहीं है, जितने किसानों हेतु टोकन जारी किया जा रहा है उन सभी का धान क्रय किया गया है। 

कलेक्टर सिंह के मार्गदर्शन में सभी उपार्जन केन्द्रों में सभी प्रकार की आवश्यक कार्रवाई समय पर की जा रही है जिससे धान विक्रय में किसानों को किसी प्रकार की कठिनाई न हो। जिले में धान खरीदी का कार्य अत्यंत सुचारू रूप से किया जा रहा है, किसी भी केन्द्र में धान खरीदी के संबंध में कोई शिकायत जिले में नहीं है। जिले में समर्थन मूल्य पर उपार्जित धान का कस्टम मिलिंग के तहत उठाव एवं चावल जमा प्रारंभ हो गया है। जिले की 89 धान उपार्जन केन्द्रों में 28 नवंबर 2022 तक 121864.64 मीट्रिक टन का धान क्रय किया गया है, जिसके विरूद्ध 89623.52 मीट्रिक टन धान डीओ जारी किया जा चुका है एवं 51495.60 मीट्रिक टन धान का उठाव उपार्जन केन्द्रों से कर लिया गया है। राईस मिलर्स को अपनी पूर्ण क्षमता अनुसार उपार्जन केन्द्रों में उपलब्ध धान का उठाव करने हेतु निर्देशित किया गया है। कलेक्टर द्वारा जिले में धान के उठाव हेतु महाभियान चलाया जा रहा है। जिसमें अवकाश के दिनों में भी धान उठाव किया जा रहा है। जिले के उपार्जन केन्द्रों में धान जाम की स्थिति निर्मित नहीं है डीओ के माध्यम से धान का उठाव तीव्रता से किया जा रहा है। धान का उठाव होने से उपार्जन केन्द्रों में पर्याप्त स्थान उपलब्ध होने से आगामी धान खरीदी में कृषकों से सुविधापूर्वक धान खरीदी हो रही है। 

 

अन्य पोस्ट

Comments

chhattisgarh news

cg news

english newspaper in raipur

hindi newspaper in raipur
hindi news