बलौदा बाजार

विश्वकर्मा पृथ्वी और स्वर्ग के निर्माता-सुशील शर्मा
19-Sep-2023 9:23 PM
विश्वकर्मा पृथ्वी और स्वर्ग के निर्माता-सुशील शर्मा

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

भाटापारा, 19 सितंबर। मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने कृषि मंडी और ग्राम अर्जुनी में विराजमान भगवान विश्वकर्मा  की विशाल मूर्ति की पूजा अर्चना कर उपस्थित जन समुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि भगवान विश्वकर्मा की उत्पत्ति ऋग्वेद में हुई है। जिसमें उन्हें ब्रह्मांड (पृथ्वी और स्वर्ग) के निर्माता के रूप में वर्णित किया गया है। भगवान विष्णु और शिव लिंगम की नाभि से उत्पन्न भगवान ब्रह्मा की अवधारणाएं विश्वकर्मण सूक्त पर आधारित हैं।

 विश्वकर्मा जी ब्रह्माजी के पुत्र धर्म तथा धर्म के पुत्र वास्तुदेव थे, जिन्हें शिल्प शास्त्र का आदि पुरुष माना जाता है। इन्हीं वास्तुदेव की अंगिरसी नामक पत्नी से विश्वकर्मा का जन्म हुआ। अपने पिता के पदचिन्हों पर चलते हुए विश्वकर्मा भी वास्तुकला के महान आचार्य बने। मनु, मय, त्वष्टा, शिल्पी और देवज्ञ इनके पुत्र हैं। इन पांचों पुत्रों को वास्तु शिल्प की अलग-अलग विधाओं में विशेषज्ञ माना जाता है।

इस अवसर पर सचिन शर्मा, संतोष सोनी, भोज राम साहू, पुनीत दास, तिलक साहू, पीला राम सेन, सरदार सिंह ध्रुव, बँटी ध्रुव, खिलावन  साहू, नेतराम साहू, नोहरिक साहू, द्वारका वर्मा, चंदन साहू प्रमुख रूप से उपस्थित थे। ग्राम पहुँचने पर ग्रामीण भाइयों ने बाजे गाजे के साथ जोरदार स्वागत किया।

अन्य पोस्ट

Comments

chhattisgarh news

cg news

english newspaper in raipur

hindi newspaper in raipur
hindi news