बलौदा बाजार

स्पंज आयरन प्लांट के विरोध में दर्जन गांवों के ग्रामीण लामबंद
07-Jun-2024 10:17 PM
स्पंज आयरन प्लांट के विरोध में दर्जन गांवों के ग्रामीण लामबंद

  सीएम के नाम कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन, आंदोलन की चेतावनी  
‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बलौदाबाजार, 7 जून। 
जिला मुख्यालय से महज 8 कि. मी. दूर लटुवा बिलासपुर मुख्यमार्ग पर स्थित ग्राम खजुरी में अनिमेष पॉवर प्लांट द्वारा लगाए जा रहे स्पंज आयरन प्लांट के विरोध में आस पास के 10-12 गांव के ग्रामीण एवं किसान लामबंद हो गए हैं एवं जनजीवन जंगल पानी खेत गावों को बचाने के लिए शासन प्रशासन से प्लांट न लगाने की गुहार लेकर कई बार ज्ञापन के माध्यम से अपना विरोध दर्ज करा चुके हैं।

ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री के नाम जिलाधीश को ज्ञापन सौंपते हुए तत्काल निर्माण कार्य बंद कराने एवं स्पंज आयरन प्लांट नहीं लगाने की मांग की है। सुनवाई नहीं होने की स्थिति में ढाबाडीह एवं करही तिराहा मुख्यमार्ग पर 10 जून सोमवार से अनिश्चित कालीन भूख हड़ताल, धरना प्रदर्शन एवं चक्काजाम करने की बात कही है।

इसी क्रम में लोकसभा चुनाव का बहिष्कार भी ग्रामीणों के द्वारा किया गया था, उस समय प्रशासन ने राजस्व पर्यावरण एवं खनिज अधिकारियों को भेजकर ग्रामीणों से मतदान करने की अपील की थी एवं अनिमेष पॉवर प्लांट द्वारा बिना अनुमति किए जा रहे अवैध प्लांट के निर्माण पर रोक लगाई थी एवं जाँच होने तक काम नहीं करने के लिए आदेशित भी किया था लेकिन प्लांट संचालकों के द्वारा मतदान के दूसरे दिन से ही उच्च अधिकारियों की बातों को अनसुना करते हुए पुन: निर्माण कार्य जोर शोर से दिन रात किया जा रहा है।

अनिमेष पॉवर प्लांट के विरुद्ध ग्रामीणों ने शिकायत में कहा है कि इनके द्वारा किसी भी तरह की अनुमति ग्राम पंचायत से नहीं ली गई है और ना ही कभी इसके संबंध में कोई जनसुनवाई ही हुई है न ही प्लांट वालों के द्वारा किसी तरह की अनुमति ली गई है बिना भूमि परिवर्तन कराये ही अपनी मनमानी करते हुए पैसे और पहुँच का रौब दिखाकर निर्माण कार्य कराया जा रहा है एवं विरोध कर रहे ग्रामीणों को प्लांट के कर्मचारियों एवं कामगारों द्वारा लगातार डराया धमकाया जा रहा है।

ग्रामीणों का कहना है कि सरकार और प्रशासन पर्यावरण बचाने की बात तो करते हैं लेकिन जिन उद्योगों से सीधी तौर पर गावों में निवासरत गरीब जन पालतू एवं वन्य पशुओं जीव  जंतुओं पेड़ पौधे पक्षियों जंगल नदी कृषि भूमि को केवल नुकसान हो, उन्हें घनी आबादी में लगाने की अनुमति किस आधार पर दी जा रही है?

अनिमेष पॉवर प्लांट के विरुद्ध पिछले 6-7वर्षों से ग्रामीण एवं किसान ये लड़ाई लड़ रहे हैं, पिछले 5 वर्षों में कांग्रेस के शासन में प्लांट का कार्य बंद था, लेकिन सरकार बदलते ही पुन: अवैध रूप से निर्माण कार्य प्रारम्भ हो गया है। ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री के नाम जिलाधीश को ज्ञापन सौंपते हुए तत्काल निर्माण कार्य बंद कराने एवं स्पंज आयरन प्लांट नहीं लगाने की मांग की है।  सुनवाई नहीं होने की स्थिति में ढाबाडीह एवं करही तिराहा मुख्यमार्ग पर 10 जून सोमवार से अनिश्चित कालीन भूख हड़ताल, धरना प्रदर्शन एवं चक्काजाम करने की बात कही है। अनिमेष स्पंज आयरन प्लांट के विरोध में ग्राम खजुरी, ढाबाडीह, बोईरडीह, केसला, रामदैया, मोहतरा रसेड़ा रसेड़ी पारागांव के ग्रामीण सम्मिलित हैं।

अन्य पोस्ट

Comments

chhattisgarh news

cg news

english newspaper in raipur

hindi newspaper in raipur
hindi news