रायगढ़

बलौदाबाजार हिंसा के विरोध में कांग्रेस का धरना, साय सरकार पर लगाए गंभीर आरोप
18-Jun-2024 7:41 PM
बलौदाबाजार हिंसा के विरोध में कांग्रेस का धरना, साय सरकार पर लगाए गंभीर आरोप

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायगढ़, 18 जून।
बलौदाबाजार में 10 जून को एसपी व कलेक्टर कार्यालय के साथ-साथ कई मकानों में आगजनी व वाहनों में तोडफ़ोड़ की घटना को लेकर कांगे्रस ने प्रदेशव्यापी धरना शुरू कर दिया है। 

इसी सिलसिले में मंगलवार को रायगढ़ जिला मुख्यालय में पूर्व मंत्री प्रेमसाय टेकाम के नेतृत्व में पुलिस अधीक्षक कार्यालय के सामने एक दिवसीय धरना देकर इस पूरे मामले में विष्णुदेव साय सरकार की नाकामी व घटना के पीछे सतनामी समाज को बदनाम करने के लिये भाजपा की साजिश बताते हुए पूरी घटना की जांच की मांग को लेकर कई सवाल उठाये।

बलौदाबाजार जिला मुख्यालय में हुई आगजनी व तोडफ़ोड़ की घटना के बाद कांग्रेस ने इसे मुद्दा बनाते हुए साय सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए कई सवाल उठाये हैं। इस संबंध में पूर्व मंत्री पे्रमसाय टेकाम ने कहा है कि इतनी बड़ी घटना के पीछे कोई न कोई बड़ी साजिश है और प्रशासनिक अमला इसे रोकने में नाकाम रहा। साथ ही साथ इस पूरे मामले में एक समुदाय विशेष के लोगों को टारगेट किया जा रहा है, जबकि वहां पर बिना जांच के निर्दोष लोगों को जेल भी भेजा गया है और ऐसे मामलों में साय सरकार पर सवाल उठना लाजमी है। 

उनका कहना था कि एक सोची समझी रणनीति के तहत इस घटना को अंजाम दिया गया था। उन्होंने इस बात को माना कि पूर्व मंत्री रूद्र गुरू सहित अन्य कई कांगे्रसी नेता वहां थे, लेकिन भाजपा के लोग भी इसमें बड़ी भूमिका निभाये हैं, इसलिये इस हिंसक घटना की जांच की मांग को लेकर वे धरना प्रदर्शन कर रहे हैं।

रायगढ़ के पूर्व विधायक प्रकाश नायक ने भी सीधे आरोप लगाते हुए कहा कि इस हिंसक व आगजनी की घटना के पीछे भाजपाईयों का हाथ है, और भाजपा सरकार उनको बचाने के लिये निर्दोष लोगों के खिलाफ कार्रवाई कर रही है, और ऐसे में कांगे्रस चुप नहीं बैठेगी और यह केवल शुरूआत है आगे इस मामले को लेकर वे अपना आंदोलन तेज करेंगे। 

अन्य पोस्ट

Comments

chhattisgarh news

cg news

english newspaper in raipur

hindi newspaper in raipur
hindi news