राजनांदगांव

राजनांदगांव, विसर्जन कुंड बनने से नदी का पानी नहीं होगा प्रदूषित-अध्यक्ष डॉ. डीसी जैन
राजनांदगांव, विसर्जन कुंड बनने से नदी का पानी नहीं होगा प्रदूषित-अध्यक्ष डॉ. डीसी जैन
Date : 11-Sep-2019

विसर्जन कुंड बनने से नदी का पानी नहीं होगा प्रदूषित-अध्यक्ष डॉ. डीसी जैन

छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 11 सितंबर।
  श्री शिवनाथ क्षेत्रीय विकास समिति के अध्यक्ष डॉ. डीसी जैन ने गणेश पर्र्व एवं नवरात्र पर्व के दौरान नगर में स्थापित मूर्तियों के विसर्जन के लिए फिल्टर प्लांट के सामने नगर निगम द्वारा निर्मित विसर्जन कुंड को प्रदूषण निवारण की दिशा में सराहनीय प्रयास निरूपित किया है।

डॉ. जैन एवं समिति के सचिव अमलेन्दु हाजरा ने कहा कि लगभग 7 वर्र्ष पूर्व तक नगर में स्थापित गणेश एवं दुर्गा की मूर्र्तियों का विसर्जन पुराने पुल के नीचे किया जाता था। पुराना एनीकट सडक़ पुल के ऊपरी भाग में निर्मित होने के कारण एनीकट का पानी प्रदूषित नहीं होता था, परन्तु नए एनीकट का निर्माण हो जाने के कारण पुराने पुल में विसर्जित मूर्तियों के निर्माण में उपयोग सामग्री एवं रंग, पेंट आदि नदीं में जमा रहते थे और एनीकट के पानी को प्रदूषित कर जन स्वास्थ के लिए हानिकारक बना देते थे। इसे ध्यान में रखते महापौर द्वारा फिल्टर प्लांट के सामने विशाल विसर्जन कुंड का निर्र्माण कराया गया है। जिसके कारण गणेश एवं दुर्र्गाजी की मूर्तियों के विसर्जन में आयोजकों को अत्यधिक सुविधा होगी। नदी का पानी प्रदूषित नहीं होगा और दुर्र्घटना की आशंका नहीं रहेगी। पर्र्यावरण संरक्षण एवं प्रदूषण निवारण की दृष्टि से नगर निगम का यह कार्य प्रशंसनीय है।

Related Post

Comments