बालोद

बालोद, तांदुला लबालब, सेल्फी लेते 2 युवक गिरे, बाल-बाल बचे
बालोद, तांदुला लबालब, सेल्फी लेते 2 युवक गिरे, बाल-बाल बचे
Date : 11-Sep-2019

तांदुला लबालब, सेल्फी लेते 2 युवक गिरे, बाल-बाल बचे

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बालोद, 11 सितंबर।
जिले का सबसे बड़ा जलाशय तांदुला इन दिनों पानी से लबालब है, जिसे देखने के लिए लोग बड़ी संख्या में पहुंचकर जलाशय के दीवार पर खड़े होकर सेल्फ़ी लेकर दुर्घटना का शिकार हो रहे हैं। इसके बाद भी लोगों का सेल्फ़ी लेने का दौर खत्म नहीं हुआ।

 अंचल में लगातार बारिश होने से जिले के सबसे बड़े जलाशय तांदुला इन दिनों रपटा से ओवरफ्लो में होने में महज दो फीट पानी आवश्यकता है। बता दें कि मंगलवार को सेल्फी लेना धमतरी के पर्यटकों को लापरवाही भारी पड़ गई। सेल्फी लेते हुए 2 युवक 10 फीट गहरे पानी में गिर गए। गनीमत यह रही कि दोनों किसी तरह तैरकर बाहर निकल गया। घटना सुबह साढ़े 10 बजे की बताई गई है।

धमतरी जिले के ग्राम गुजरा के तीन युवक सियादेवी घूमने आए थे। तीनों सियादेवी से तांदुला जलाशय के ओवरफ्लो दीवार पर चढ़कर लबालब भरे पानी के साथ सेल्फी ले रहे थे। एक युवक का पैर फिसलने से तांदुला में गिर गया था। यही नहीं गिरते वक्त अपने एक साथी का कपड़ा पकड़ लिया जिससे उसके दूसरे साथी भी तांदुला में गिर गए। दोनों तैरना जानते थे इसलिए तैरकर बाहर आ गए। इस दुर्घटना के बाद पर्यटकों की भीड़ लग गई थी। दुर्घटना के बाद तीनों पर्यटक चले गए।  तांदुला जलाशय के नीचे सीढ़ी हैं। जहां पर एक पर्यटक अपने मासूम पुत्र को नीचे सीढ़ी में उतारकर फोटो खींच रहे हैं जो बड़ी दुर्घटना घट सकती है। सीढ़ी के दो फीट नीचे पानी भरा हुआ है।

नहीं है सुरक्षा के इंतजाम 
 बारिश के कारण तांदुला जलाशय लबालब भरा हुआ है। तांदुला को छलकने में अब मात्र 2.50 फीट ही पानी चाहिए। ऐसे में तांदुला को देखने बड़ी संख्या में पर्यटक पहुंचतेे हंै। लोग तादुंला के ओवरफ्लो स्थल जहां पर लोगं की मनाही रहती है वहां जाकर सेल्फी लेते हैं। उन्हें रोकने-टोकने वाला कोई नहीं है। पर्यटकों को खतरे से आगाह कराने वाला और सुरक्षा का कोई इंतजाम नहीं है। यही कारण है कि हर साल लोग जलाशय में गिरते हैं। वहां पर ना तो नगर पालिका प्रशासन ना ही सिंचाई और पुलिस प्रशासन ने सुरक्षा के इंतजाम किए हैं। दुर्घटना के बाद सबसे ज्यादा परेशानी पुलिस विभाग को होती है।

Related Post

Comments