रायपुर

अल्पना ने सिखाया इको फ्रैडली राखी बनाना
अल्पना ने सिखाया इको फ्रैडली राखी बनाना
01-Aug-2020 6:41 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 1 अगस्त।
कोरोना संकटकाल मे इन दिनों डॉ.अल्पना देशपांडे  घरेलू सामग्री से स्वयंसेवकों को इको फ्रेंडली  राखियां बनाने का प्रशिक्षण दे  रही हैं।विगत 5 वर्षों से राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयंसेवकों को प्रशिक्षण दे रही अल्पना इस बार र्ग्रामीण स्वयंसेविकाओं को व्हाट्सएप एवं ऑनलाइन के माध्यम से राखी बनाना सिखा रही हैं। वह राखी की अनेक प्रदर्शनी भी लगा चुकी हैं जिससे अर्जित धनराशि का समाज सेवा जैसे अनाथ आश्रम, आदिवासी आश्रम, स्वच्छता अभियान, सीमा में तैनात सैनिकों हेतु, दिव्यांग सेवा कार्य में वह उपयोग करती हैं। उनका मानना है कि  घरेलू सामग्री से इको फ्रेंडली राखी  बनाने से न सिर्फ पर्यावरण की रक्षा की जा सकती है वरन बाजार जाने से बचा जा सकता है। अल्पना प्लास्टिक एवं चाइना राखियों को बहिष्कार के दौर मे छत्तीसगढ़ की मुख्य पैदावार धान, पैरा, भूसा, चावल के दाने से तिरंगा एवं झंडा डिजाइन की राखी, गेहूं के दाने एवं उनके ठूठ से, बैंबू, विभिन्न प्रकार की दालें, मूंग दाना, साबूदाना, हल्दी, रुद्राक्ष भुट्टे के छिलके के फूल, मक्की के आटे आदि से राखी बनाना सिखाया है।इसके अलावा उन्होंने गाय के गोबर ,मौली धागे, लाख, पेपर क्विलिंग, आइसक्रीम चम्मच, कपड़ों की कतरन , साटन रिबन के फूल, माइक्रम डोरी, रेशम डोरी, तथा विभिन्न प्रकार के पौधों के बीजों से  राखी बनाना सिखाया है।

अल्पना देशपांडे ने राष्ट्रीय सेवा योजना के राज्य स्तरीय शिविरों में, अनेक महाविद्यालयों में, शासकीय विद्यालय आरंग में 45 शिक्षकों को सीसीआरटी नई दिल्ली द्वारा आयोजित सांस्कृतिक स्त्रोत एवं प्रशिक्षण कार्यक्रम में प्रशिक्षण दे चुकी हैं। वह राखी के अलावा पेपर बैग, ग्रीटिंग्स, ऑफिस एवं पर्यावरण प्रोजेक्ट के लिए इको फाइल के प्रयोग हेतु प्रशिक्षण एवं जागरूक कर रही है। डॉ खूबचंद बघेल शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में कार्यरत अल्पना देशपांडे के मार्गदशरन में राष्ट्रीय सेवा योजना बालिका इकाई की स्वयंसेवक दीप्ति नेताम, मोनिका वर्मा जय श्री निर्मलकर,मौसमी बंछोर, हर्षा वर्मा, पूजा जोशी, सत्या यादव,  वर्षा पांडेय,त्रिवेणी यादव, ज्योति वर्मा, पद्मनी मदरिया,  रत्ना चंद्राकर, कुसुम,इति कुमारी, जी लता, निधि झा, छाया, तनुजा, कनक , नंदिनी, नेहा, नीतू, पूजा चतुर्वेदी आदि ने राखी बनाना सीखा।

अन्य पोस्ट

Comments