राजनांदगांव

नियमितीकरण के लिए हड़ताल में उतरे 500 संविदाकर्मी
19-Sep-2020 2:35 PM 4
नियमितीकरण के लिए हड़ताल में उतरे 500 संविदाकर्मी

राष्ट्रीय स्वास्थ्य कार्यक्रम के कर्मियों के हड़ताल का पहला दिन

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजनांदगांव, 19 सितंबर।
राष्ट्रीय स्वास्थ्य कार्यक्रम के संविदा कर्मियों ने शनिवार को अनिश्चितकालीन हड़ताल के पहले दिन राज्य सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। राजनांदगांव जिले के करीब 500 संविदा कर्मियों ने प्रांतव्यापी हड़ताल में शामिल होते हुए अपनी मांग को लेकर आवाज उठाई। कोरोनाकाल के बीच हड़ताल में जाने से स्वास्थ्य महकमे पर अतिरिक्त दबाव बढ़ गया है।

बताया जा रहा है कि जिला मुख्यालय के अलावा ब्लॉकों में भी विरोध स्वरूप संविदा कर्मियों ने हड़ताल किया है। सीएमओ कार्यालय में पदस्थ कर्मियों ने हड़ताल करते हुए नारेबाजी की। वहीं ब्लॉकों में पदस्थ कर्मियों ने सरकार विरोधी नारे लगाए। एनएचएम कर्मी संघ का आरोप है कि 15 वर्षों से बतौर संविदाकर्मी कार्य करने के बाद भी उन्हें नियमित नहीं किया जा रहा है। जबकि स्वास्थ्य विभाग को छोडक़र अन्य विभागों में कार्यरतकर्मी नियमित किए जा चुके हैं।

प्रांतव्यापी आह्वान पर राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के संविदा कर्मियों ने सीएमओ कार्यालय के सामने एकत्र होकर अपनी मांगों को नारेबाजी की। इधर कोरोनाकाल में अनिश्चितकालीन हड़ताल में संविदा कर्मियों के जाने से स्वास्थ्य महकमे पर स्वभाविक दबाव बढ़ गया है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत चिरायु, आईडीएफसी, नेशनल कम्युनिकेबल डिसिस, एड्स कंट्रोलर तथा शहरी स्वास्थ्य मिशन के दर्जनों कर्मचारी  हड़ताल में शामिल हुए। 

बताया गया है कि संघ द्वारा लगातार पत्रों के जरिये सरकार से नियमितीकरण के लिए गुहार लगाई जा रही थी। चुनाव घोषणा पत्र में कर्मियों को नियमित किए जाने का भी सरकार ने वादा किया था। राज्य सरकार द्वारा इस दिशा में ध्यान नहीं देने के चलते अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू किया गया।
 
कोरोना टेस्ट कराने भटकते रहे लोग
वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण की जांच कराने  लोग म्युनिसिपल स्कूल मैदान स्थित गांधी सभागृह में पहुंचते रहे। वहीं गांधी सभागृह का गेट बंद होने से कोरोना जांच कराने वाले घंटों इंतजार करते भी नजर आए। इधर राष्ट्रीय स्वास्थ्य कार्यक्रम के संविदा कर्मियों  के अनिश्चितकालीन हड़ताल में जाने से कोविड-19  जांच पर भी ब्रेक लग गया है। ऐसे में लोगों की जांच  का कार्य अटकता नजर आ रहा है।

अन्य पोस्ट

Comments