गरियाबंद

किसानों के हित में नए कानून को वापस लिया जाना चाहिए - रतीराम
19-Sep-2020 6:05 PM 2
किसानों के हित में नए कानून को वापस लिया जाना चाहिए - रतीराम

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
नवापारा-राजिम, 19 सितंबर।
जिला कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष रतीराम साहू ने कहा कि देश के किसानों के हित में इस नए कानून को वापस लिया जाना चाहिए, क्योंकि किसान ही देश की रीढ़ है। नरेंद्र मोदी ने पहले नोटबन्दी लागू कर देश की अर्थव्यवस्था की कमर तोड़ रखी थी। वहीं अब नया कानून बनाकर देश के किसानों की कमर तोडऩे को आतुर हैं।

नए कानून से किसान धोखाधड़ी व ठगी के शिकार होंगे। इस कानून से किसानों को न तो उचित मूल्य मिल पायेगा और न ही समय पर भुगतान हो पाएगा। वर्तमान समय में कृषि उपज मंडी के माध्यम से धान बेचने पर एक सौदा पत्रक एक आधार होने के बाद भी भुगतान के लिए महीनों तक भटकना पड़ता है। लेकिन नए कानून से कोई भी व्यक्ति या कंपनी कही भी खरीदी करेगा, जिसका कहीं कोई पकड़ नहीं होगा। विवाद की स्थिति में किसान को अनुविभागीय अधिकारी को शिकायत करना होगा जिस पर कार्यवाही के लिए तीस दिन लगेंगे।

दूसरे तरफ कृषि उपज मंडी भी बंद होने की कगार पर आ जायेगी। सौदा पत्रक नहीं होने से किसी प्रकार का शुल्क राशि मंडी समिति में जमा नही होगा। ऐसी स्थिति में मंडी समिति के कामकाज प्रभावित होंगें। कर्मचारियों को वेतन दे पाना भी मुश्किल होगा। 

रतीराम साहू ने कहा कि भाजपा सरकार को किसानों के प्रति जरा भी चिंता है तो वर्तमान में अपने स्वत: द्वारा घोषित समर्थन मूल्य में मंडियों में धान खरीदी की व्यवस्था को ठीक कर ले तो किसानों का भला हो सकता है। उन्होंने आगे कहा कि किसानों के साथ किसी भी प्रकार की छलावा नहीं होना चाहिये। जब तक किसान का जीवन खुशहाल नहीं होगा तब तक देश खुशहाल नहीं हो सकता। 
 

अन्य पोस्ट

Comments