कोरबा

लॉकडाउन का कड़ाई से पालन कराने सडक़ पर उतरे कलेक्टर-एसपी
23-Sep-2020 2:26 PM 3
लॉकडाउन का कड़ाई से पालन कराने सडक़ पर उतरे कलेक्टर-एसपी

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
कोरबा, 23 सितंबर।
जिले में बढ़ते कोरोना संक्रमण की चेन तोडऩे के लिए आज से नगरीय निकाय क्षेत्रों सहित चिन्हांकित 33 ग्राम पंचायतों में सख्त लॉकडाउन लागू हो गया है। लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराने की जिम्मेदारी जिला दण्डाधिकारी किरण कौशल ने पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों को सौंपी है। आज सुबह लॉकडाउन के पहले दिन कलेक्टर श्रीमती कौशल जिले के पुलिस कप्तान  अभिषेक मीणा के साथ स्वयं शहर की सडक़ों पर निकलीं। दोनों अधिकारियों ने कोविड वायरस के संक्रमण की चेन को तोडऩे के लिए जिले में लागू धारा 144 का कड़ाई से पालन सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए। 

कलेक्टर और एसपी ने शहर की सडक़ों पर निकले इक्का-दुक्का लोगों को अपने घरों में रहने की हिदायत दी। दोनों अधिकारियों ने लोगों को रोककर घरों से बाहर निकलने का कारण पूछा और कोरोना से बचाव के लिए घर में ही सुरक्षित रहने की सलाह दी। इस दौरान कुछ जगहों पर पुलिस और प्रशासन के कार्यपालिक दण्डाधिकारियों ने बेवजह बिना काम के बाईकों पर सवार होकर सडक़ों पर घूम रहे लोगों के विरूद्ध चालानी कार्यवाही भी की। 

सीतामणी चौक पर बार-बार समझाईश के बाद भी कुछ युवाओं के सडक़ों पर बाईक लेकर बेकारण घूमने पर पुलिस प्रशासन ने सख्त कार्यवाही की। बाइक सवार युवकों को धारा 144 का उल्लंघन तथा लॉकडाउन के निर्देशों का पालन नहीं करने पर महामारी अधिनियम के तहत थाने में एफआईआर दर्ज कराने की भी चेतावनी दी। 

इस दौरान अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी  संजय अग्रवाल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक  कीर्तन राठौर, एसडीएम कोरबा सुनील नायक, सीएसपी  राहूल देव सहित अन्य अधिकारी भी लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराने में जुटे रहे।
लॉकडाउन के उल्लंघन पर कड़ी कार्रवाई के निर्देश 

कलेक्टर श्रीमती कौशल ने किसी भी परिस्थिति में लॉकडाउन का पालन सुनिश्चित कराने के निर्देश सभी एसडीएम एवं तहसीलदारों को दिए। श्रीमती कौशल ने बिना मास्क लगाए और बेवजह सडक़ों पर घुमने वाले लोगों पर सख्त कार्रवाई करते हुए जुर्माना लगाने के साथ-साथ गंभीर मामलों में एफआईआर दर्ज कराने को भी कहा है।
 
उन्होंने कंटेनमेंट जोन घोषित सभी नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रो में निरीक्षण दल बनाकर नियमित निरीक्षण करने को भी कहा है। कलेक्टर ने लोगों से कोविड संक्रमण की चेन को तोडऩे के लिए लागू किए गए लॉकडाउन का पालन करने और शासन-प्रशासन को सहयोग करने की अपील भी की है। श्रीमती कौशल ने यह भी चेताया है कि लॉकडाउन लोगों की कोरोना संक्रमण से सुरक्षा के लिए लागू किया गया है। भारत सरकार और राज्य शासन के द्वारा जारी कोविड प्रोटोकॉल संबंधी दिशा-निर्देशों का उल्लंघन करने पर भारतीय दंड विधान की विभिन्न धाराओं के साथ-साथ महामारी अधिनियम के तहत भी कानूनी कार्रवाई की जा सकेगी। जिसके तहत एफआईआर दर्ज किया जायेगा और उल्लंघन करने वाले व्यक्ति को जुर्माना या कारावास की सजा भी हो सकेगी।

अन्य पोस्ट

Comments