दन्तेवाड़ा

डेढ़ लाख से अधिक बच्चों को कृमिनाशक दवा
26-Sep-2020 8:05 PM 6
डेढ़ लाख से अधिक बच्चों को कृमिनाशक दवा

दंतेवाड़ा, 26 सितंबर। कोविड-19 के दौर में भी  कलेक्टर दीपक सोनी के मार्गदर्शन में निर्धारित मानकों का पालन करते हुए जिले के ग्रामीण अंचलों में बच्चों और किशोरों को आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा कृमि नाशक दवा की खुराक दी जा रही है। इसके अंतर्गत एलबेंडाजोल की गोलियां उनके घर जा कर खिलाई जा रही है। 

कलेक्टर दीपक सोनी ने विकासखंडवार कोविड-19 महामारी के दौरान कोरोना प्रोटोकाल का पालन करते हुए कार्यक्रम का सफल संचालन व क्रियान्वयन किये जाने के निर्देश दिये हैं। जिले में यह अभियान 23 सितंबर से शुरू किया गया है जो 30 सितंबर तक चलाया जाएगा। जिसमें ग्राम की मितानिनों एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के माध्यम से 1 वर्ष से 19 वर्ष तक के बच्चों को एलबेंडाजोल की टेबलेट खिलाई जा रही है। 1 वर्ष से 2 वर्ष तक के बच्चों को एलबेंडाजोल की आधी टेबलेट (200 मि.ग्रा.) पीस कर पानी के साथ खिलाई जा रही है तथा 2 वर्ष से 19 वर्ष तक के बच्चों को 1 टेबलेट (400 मि.ग्रा.) चबा कर खानी है। ग्राम की मितानिनों एवं आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा घर-घर जाकर एलबेंडाजोल की टेबलेट खिलाई जा रही है। जिले में कुल 1 लाख 65 हजार 6 सौ 42 बच्चे लक्षित किये गए हैं। जिन्हें अभियान के दौरान खुराक दी जाएगी।

  इस महत्वपूर्ण राष्ट्रीय कार्यक्रम में स्वास्थ्य विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग, पंचायत विभाग एवं अन्य स्वयं सेवी संगठनों से समन्वय स्थापित कर कार्यक्रम का सफल क्रियान्वयन किया जाएगा। राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस के अभियान का मूल उद्देश्य बच्चों में होने वाली खून की कमी (एनीमिया), कमजोरी एवं कुपोषण की रोकथाम करना है। कृमि संक्रमण से बचाव के लिए खुले मे शौच न करें, अपने हाथ साबुन से धोंये विशेषकर खाने से पहले व शौच जाने के बाद, नाखून साफ और छोटे रखे, आस-पास सफाई रखे, हमेशा साफ पानी  पिये, जूते पहने, खाने को ढक कर रखे एवं साफ पानी से फल व सब्जियाँ धोये, फिर प्रयोग करें।

अन्य पोस्ट

Comments