कोण्डागांव

बगैर सूचना दफन, नाबालिग का शव निकाला, जांच शुरु
25-Oct-2020 12:34 AM 39
 बगैर सूचना दफन, नाबालिग  का शव निकाला, जांच शुरु

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

कोण्डागांव/विश्रामपुरी, 24 अक्टूबर। पुलिस को बगैर सूचना दिए और बगैर पोस्टमार्टम के दफन कर दिए गए 15 वर्षीय लड़की के शव को कार्यपालिक मजिस्ट्रेट की उपस्थिति में निकालवाकर पुलिस ने आगे की जांच कार्रवाई शुरु की।

नायब तहसीलदार केशकाल क्षमा यदु ने बताया कि उन्होंने पूर्व में ग्रामीणों एवं परिजनों का बयान लिया था, जिसके आधार पर एसडीएम केशकाल के द्वारा शव उत्खनन का आदेश दिया गया था, उसी का पालन करते हुए शनिवार की दोपहर में उत्खनन किया गया तथा उसे फॉरेंसिक जांच के लिए जगदलपुर भेज दिया गया है।

ज्ञात हो कि जिले में यह पखवाड़े भर के अंदर दफन शव निकालने का दूसरा मामला है। इसके पूर्व धनोरा थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम में एक नाबालिग का शव निकाला गया था, तब जाकर यह पता चला था कि यह गैंगरेप का मामला था, जिसे दफन कर दिया गया था। जिसमें 7 आरोपियों की गिरफ्तारी हुई है।

जानकारी अनुसार, पुलिस थाना धनोरा से लगभग 8 किमी की दूरी पर स्थित ग्राम में लगभग 3 माह पूर्व 22 अगस्त को एक लड़की ने अपने घर के आंगन में इमली के पेड़ पर फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी। जिसकी पुलिस को बगैर सूचना दिए और बगैर पोस्टमार्टम कराए मिट्टी में अंतिम संस्कार कर दिया गया था।

 इसी दरम्यान इस मामले की खबर पुलिस अधीक्षक को उनके विश्वसनीय सूत्र से मिल गयी। जिसके बाद पुलिस अधीक्षक ने जानकारी की पुष्टि करके जांच आरंभ करवाया।

पुलिस ने मर्ग कायम कर के अनुविभागीय अधिकारी राजस्व को प्रतिवेदन प्रेषित किया। जिसकी जांच अनुविभागीय अधिकारी राजस्व ने नायब तहसीलदार से करवाने के बाद लाश निकलवाकर मृत्यु के कारण की पुष्टि करने की अनुमति प्रदान किया। जिसका पालन करते शनिवार को कार्यपालिक मजिस्ट्रेट बतौर नायब तहसीलदार क्षमा यदु की उपस्थिति में दफन लाश को निकलवाकर धनोरा लाकर पोस्टमार्टम करवाया गया। पोस्टमार्टम से लड़की की मौत को लेकर लगाए जा रहे अटकल पर विराम लग पाएगा।   लड़की की मौत के बारे में परिवारजन व ग्रामवासियों का यह कथन है कि उसकी तबियत ठीक नहीं थी। उसका झाडफ़ूंक एवं पूजा पाठ कर इलाज कराया जा रहा था। इसी बीच उसने आत्महत्या कर ली थी।

अन्य पोस्ट

Comments