कोण्डागांव

हुक्का पानी बंद होने से ग्रामीणों के समक्ष संकट, धान मिसाई भी बंद करा दिया गया, खुद चरा रहे गाय बैल
31-Oct-2020 11:22 PM 21
हुक्का पानी बंद होने से ग्रामीणों के समक्ष संकट, धान मिसाई भी बंद करा दिया गया, खुद चरा रहे गाय बैल

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
विश्रामपुरी, 31 अक्टूबर।
ग्राम पंचायत सवाला में हुक्का पानी बंद करने से घासीराम एवं उनके 10 परिवारों के समक्ष रोजीरोटी की संकट की स्थिति उत्पन्न हो गई है। घटना के 24 घंटे बाद भी प्रशासन का कोई अधिकारी उनके घर तक नहीं पहुंचा है। जिससे परिवार में भय का माहौल है। वहीं दूसरी ओर शिकायत को लेकर ग्राम प्रमुख एवं ग्रामीण आक्रोशित होकर थाना धनोरा पहुंचे थे। जहां वे गिरफ्तार आरोपियों की रिहाई की मांग कर रहे थे। बाद में उन्हें जमानत मिल गई है।

ज्ञात हो कि केशकाल अनुविभाग के धनोरा थाना क्षेत्र के ग्राम पंचायत सवाला में ग्रामीण घासीराम खवासा एवं उनके 10 परिवार पर ग्राम प्रमुखों ने बैठक कर हुक्का पानी बंद करने का फरमान जारी कर दिया गया है। घासीराम का परिवार गांव में अल्पसंख्यक है। उनका एवं उनके परिवार का बहुसंख्यकों ने हुक्का-पानी बंद कर दिया है। घासीराम के घर के सामने ही गुरुवार को एक बैठक रखा गया था, जहां घासीराम की लड़की से 4 लोगों ने मारपीट की थी। मारपीट करने वालों को गिरफ्तार कर लिया गया था, जहां उन्हें जमानत मिल गई है।

 दूसरी ओर घासीराम एवं उनके पारिवार के सदस्यों ने बताया कि इस समय प्रतिबंध को और भी कड़ा किया जा रहा है। उनके घर में ट्रैक्टर से धान मिसाई होना था किंतु ट्रैक्टर वालों को भी मिसाई करने से मना कर दिया गया है। अब दूसरे गांव से ट्रैक्टर बुलाने का प्रयास करेंगे, किंतु गांव में इनकी दादागिरी से दूसरे गांव के ट्रैक्टर वाले नहीं आएंगे तो उनके समक्ष धान मिसाई के लिए गंभीर समस्या हो सकती है।  पीडि़त परिवार में 50 से 60 के लगभग गाय बैल हैं। चरवाहे ने गाय बैल को घर में लाकर छोड़ दिया तथा कहा कि कल से वह गाय बैल नहीं चराएगा क्योंकि गांव वालों ने उन्हें मना कर दिया है, ऐसा करने पर उन्हें ग्राम प्रमुख दंडित करेंगे। अब इस स्थिति में घर के ही कुछ सदस्य गाय बैल भी चरा रहे हैं।
तहसीलदार केशकाल राकेश साहू ने बताया कि मामले की जांच के लिए टीम गठित किया गया है। जमीन से जुड़ा हुआ मामला है, पहले विवादित जमीन का सीमांकन करके ग्रामीणों को बताया जाएगा कि यह जमीन किसके पक्ष में है। हुक्का पानी का मामला भी इसी से जुड़ा हुआ है। तत्पश्चात इसे सुलझाया जाएगा।

चारों आरोपी गिरफ्तार, न्यायालय से मिली जमानत
जमीन विवाद के मामले में घासीराम एवं 10 परिवार का हुक्का पानी बंद करने के लिए हुई बैठक के दौरान घासीराम की पुत्री जसवंता से मारपीट के मामले में 4 आरोपितों की आज सुबह गिरफ्तारी हुई तथा उन्हें केशकाल न्यायालय में पेश किया गया था जहां जमानत पर रिहा कर दिया गया है।

ज्ञात हो कि जमीनी विवाद के एक मामले में केशकाल पुलिस अनुविभाग केथाना धनोरा अन्तर्गत  ग्राम पंचायत सवाला में ग्रामीण घासीराम के पक्ष में एसडीएम का फैसला आया था तत्पश्चात ग्राम प्रमुखों ने उनके 10 परिवार को बहिष्कृत करने का ऐलान कर दिया था। ग्रामीणों की बैठक घासीराम के घर के सामने ही हो रही थी जहां घासीराम की पुत्री भी शामिल हुई थी। जसवंता ने ग्रामीणों के फरमान का विरोध किया तो गांव बैठक में उपस्थित चार युवकों ने युवती से मारपीट किया। जिसकी रिपोर्ट थाना धनोरा में की गई थी।

'छत्तीसगढ़’ में समाचार प्रकाशित होने के पश्चात पुलिस एक्शन में आई तथा दूसरे दिन शनिवार की सुबह लगभग 8 बजे आरोपितों की गिरफ्तारी हुई। चारों आरोपियों अभिलाल ,नथलूराम ,तीज लाल और गिरधारी को गिरफ्तार कर व्यवहार न्यायालय केशकाल में पेश किया गया, जहां उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया गया है।

अन्य पोस्ट

Comments