कोण्डागांव

उगते सूरज को अघ्र्य देकर संपन्न हुई छठ पूजा
21-Nov-2020 9:29 PM 38
 उगते सूरज को अघ्र्य देकर संपन्न हुई छठ पूजा

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

कोण्डागांव, 21 नवंबर। नगर के बंधा तालाब में 21 नवंबर की सुबह उगते सूरज को अघ्र्य देकर छठ पूजा संपन्न हुई। इस दौरान व्रती महिलाओं ने बताया कि, छठ पूजा का आयोजन कुल 4 दिनों का होता है।

कोण्डागांव में निवासरत भोजपुरी संगम समाज के माध्यम से बंधा तालाब में पहुंचकर भव्य रूप से छठ पूजा का आयोजन किया जाता है। इस वर्ष 18 नवंबर को नहाई-खाई के साथ छठ पूजा कार्यक्रम शुरू किया गया। नहाय-खाय करने के बाद 19 और 20 नवंबर को व्रतियां 2 दिनों का लगातार उपवास करते हैं।

शुक्रवार को व्रतियों ने परिवार व संतान कीमंगल कामना को लेकर डूबते सूरज को अघ्र्य दिया। छठ पूजा के अंतिम दिन कोण्डागांव के बंधा तालाब में 21 नवंबर की सुबह उगते सूरज को अघ्र्य देकर छठ पूजा का समापन किया गया।

यहां भोजपुरी संगम समाज के जन्म भारी संख्या में मौजूद रहे, उन्होंने सूर्य के उदय होने से पहले ही तलाब में उतर कर छठ मैया और सूर्य देवता की प्रार्थना की। इसके बाद उगते सूरज को अघ्र्य दिया गया। इसी तरह नगर से लगे पलारी गांव के तालाब में भी छठ पूजा का आयोजन किया गया।

घाट में मौजूद रहे गोताखोर, तो पालिका ने पहले ही कर दिया था घाट की सफाई

बंधा तलाब में छठ पूजा के दौरान सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए प्रशासन के माध्यम से 20 नवंबर की शाम और 21 नवंबर की सुबह नगर सेना के गोताखोर, यातायात पुलिस के जवान और सिटी कोतवाली पुलिस के अधिकारी व जवानों को तैनात किया गया। बंदा तालाब में सुरक्षा के इंतजाम करते हुए संबंधित विभागों की तैनाती की गई थी। वहीं पूजा शुरू होने के पहले ही नगर पालिका के माध्यम से बंधा तालाब और पलारी तालाब के घाट का सफाई किया गया है। छठ पूजा की तैयारियों के तहत नगर पालिका के माध्यम से छठ पूजा आयोजन के मुख्य स्थल बंधा तालाब और पलारी तालाब के घाट का सफाई किया गया।

अन्य पोस्ट

Comments