सरगुजा

ट्रेड यूनियनों की हड़ताल, केंद्र सरकार के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन
26-Nov-2020 8:04 PM 32
ट्रेड यूनियनों की हड़ताल, केंद्र सरकार के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

अंबिकापुर, 26 नवम्बर। यूनाइटेड फोरम ऑफ ट्रेड यूनियन सरगुजा के बैनर तले राष्ट्रीय आम हड़ताल का आयोजन अम्बिकापुर नगर के घड़ी चौक पर किया गया। इस दौरान मौजूद वहां कर्मचारियों ने केंद्र सरकार के विरुद्ध जमकर नारेबाजी की। आयोजित धरना व सभा का संचालन विमल शर्मा ने किया।

सर्वप्रथम वक्ता के रूप में त्रिभुवन दुबे बीएसएनएल एलईयू किरण सिन्हा, रेलवे मेंस यूनियन सुदे राम चौहान, छत्तीसगढ़ कोटवार एसोसिएशन, छत्तीसगढ़ किसान सभा, छत्तीसगढ़ जुझारू आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सहायिका संघ के सुनीता राजवाड़े, राजेंद्र सिंह, चरनप्रीत सिंह इफ्टा, अनंत सिन्हा छत्तीसगढ़ कर्मचारी संघ,प्रकाश नारायण सिंह, प्रवीण सिंह एमपी एमएसआर यूनियन सभा ने संबोधन किया।

सभी वक्ताओं ने केंद्रीय मांग पर अपने विचार रखें तथा श्रम विरोधी, किसान विरोधी,जन विरोधी नीतियों को वापस लेने की मांग की। वक्ताओं ने राज्य सरकार से कर्मचारियों के लंबित मांगों को बहाल करने,वेतन विसंगति दूर करने की मांग की है।

कार्यक्रम में सहयोग देने विमल शर्मा, अजय, विवेक, मनोज द्विवेदी, शेखर, रामजी तिवारी, केडी अंसारी,विपिन पटनायक, राजीव सिंह, भोगेंद्र द्विवेदी, चंद्रभान,संतोष, अनिल गुप्ता,राजू शर्मा, संतोष सिंह,आर्यन राम, द्वारिका गुप्ता,सुधीर तिवारी, सच्चिदानंद पांडे,शैलेंद्र वर्मा धरना स्थल पर मौजूद थे। इफ्टा ने आंदोलन के समर्थन में पोस्टर भी लगाया था।

गौरतलब है कि ट्रेड यूनियनों ने गुरुवार को दस केंद्रीय ट्रेड यूनियन सरकारी सेक्टर की इकाइयों के प्राइवेटाइजेशन और नए लेबर और कृषि कानूनों के विरोध में भारत बंद का ऐलान किया है। ट्रेड यूनियन की तरफ से बताया गया कि 25 करोड़ से अधिक कर्मचारी इस हड़ताल में शामिल होकर भारत बंद को सफल बनाए है। इस हड़ताल में भारतीय जनता पार्टी से संबंधित भारतीय मजदूर संघ (बीएमएस) शामिल नहीं हुए।

अन्य पोस्ट

Comments