कोण्डागांव

12 दिन बाद अगवा माहभर का शिशु मिला, माता-पिता को पुलिस ने सौंपा
29-Nov-2020 9:04 PM 75
12 दिन बाद अगवा माहभर का शिशु मिला, माता-पिता को पुलिस ने सौंपा

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

विश्रामपुरी, 29 नवंबर। बारह दिन पहले 36 दिन के अगवा बच्चे को पुलिस ने तलाश कर माता-पिता को सौंप दिया है। पुलिस अधीक्षक कोंडागांव सिद्धार्थ तिवारी ने ‘छत्तीसगढ़’ को बताया कि बच्चा बरामद हुआ है, किंतु अभी तफ्तीश जारी है, इसलिए कल सोमवार को प्रेस कांफें्रस में पूरी जानकारी दी जाएगी।

पुलिस सूत्रों के अनुसार कोंडागांव जिला के थाना उरंदाबेड़ा के गांव आलनेर की रामकी बाई 18 नवंबर की सुबह  5-6 बजे अपने घर के आंगन की साफ सफाई लीपाई में लगी हुई थी। इसी बीच कोई घर के भीतर घुसकर बिस्तर पर सोते हुए 36 दिन के बच्चे को लेकर लापता हो गया था। जब काम निपटाकर मां अपने बच्चे को देखने पहुंची तो बच्चा बिस्तर पर नहीं मिला। जिससे हड़बड़ाई हुई मां ने अपने बच्चे का पता लगाना आरंभ किया। बच्चे के माता-पिता, परिवारजन एवं आस पड़ोस के लोग हैरत में पड़ गये और इधर उधर हर संभावित जगह पतासाजी करने लगे।

लापता बच्चे के चाचा पीलाराम नाग ने थाना उरंदाबेड़ा पहुंचकर बच्चे के गायब होने के बारे में जानकारी देते हुए प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज करवाया। पुलिस ने मामले को गंभीरता से लिया और अपराध कायम करके खोजबीन शुरू करते उच्च अधिकारियों को इसकी जानकारी प्रेषित कर दिया।

मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ तिवारी ने अधिकारियों को टीम गठित कर बच्चे की पतासाजी में लगा दिया और खुद उरंदाबेडा थाना एवं लापता बच्चे के गांव आलमेर जाकर मामले की पूरी जानकारी ली। लापता बच्चे की माता-पिता, परिवार जन और पुलिस द्वारा पतासाजी की जा रही थी, पर कहीं से कोई पुख्ता जानकारी मिल नहीं पा रही थी। इतना ही पता चल पाया था कि एक महिला छोटे बच्चे को लेकर जा रही थी। चींगनार जाने के रास्ते में बच्चे का मोजा और थोड़ी दूर में उसको ओढ़ाया गया शाल मिला था तथा चौक पर वह महिला चींगनार जाने के रास्ते के बारे में पूछी थी। जिससे बच्चे को चींगनार की तरफ ले जाने की संभावना पर पतासाजी किया जाता रहा।

गुप्त जानकारी के आधार पर रविवार को पुलिस और बच्चे के माता-पिता परिवारजन चींगनार उस घर में पहुंचे, जहां एक बच्चा होने की खबर मिली थी। शुरूआती पूछताछ में घर वाले उस बच्चे को अपना बताने लगे, वहीं आलनेर से पहुंचीं मां एवं उसके परिवार वाले बच्चे पर अपना दावा करने लगे।

पुलिस दोनों के दावे को सुनने के बाद पूछताछ करके सच जानने की कोशिश में जुट गयी। दोनों पक्षों को थाना लाकर पूछताछ करने के बाद बच्चे को आलनेर के रामकीबाई एवं श्रवण कुमार को सौंप दिया। अपना खोया हुआ बच्चा 12 दिन बाद सकुशल पाकर माता पिता और परिवार जन बेहद खुश हैं।  रविवार शाम तक पुलिस की तफ्तीश जारी है, अब तक किसी के खिलाफ मामला दर्ज नहीं हो पाया था।

 

अन्य पोस्ट

Comments