कोण्डागांव

36 दिन के बालक का अपहरण, गिरफ्तार
30-Nov-2020 7:03 PM 24
 36 दिन के बालक का अपहरण,  गिरफ्तार

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

कोण्डागांव, 30 नवंबर। थाना प्रभारी उरंदाबेडा को 18 नवंबर को सूचना मिला कि, ग्राम आलमेर थाना उरंदाबेडा में एक बालक को कोई उठाकर ले गया हैं। उक्त सूचना को थाना प्रभारी द्वारा वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराया गया। पुलिस अधीक्षक कोण्डागांव सिद्वार्थ तिवारी के माध्यम से सूचना के संवेदनशीलता को देखते हुए एसडीओपी फरसगांव व थाना प्रभारी उरंदाबेड़ा को तत्काल ग्राम आलमेर पहुंचकर सूचना की तस्दीक कर जांच कार्रवाही करने के लिए निर्देशित किया गया। जिसके चलते 29 नवंबर को अपहरण करने वाली आरोपिया को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया हैं।

पुलिस अधीक्षक  अपहृत बालक दक्ष के पता-तलाश के लिए एसडीओपी फरसगांव पुष्पेन्द्र नायक के नेतृत्व में थाना प्रभारी उरंदाबेड़ा, बड़ेडोंगर, फरसगांव की अलग-अलग टीम गठित कर ग्राम आलमेर के आसपास के गांवों में ग्रामीणों से पूछताछ करने तथा पता-तलाश करने निर्देशित किया गया।  पता-तलाश के दौरान 29 नवंबर को पुलिस को सूचना मिला कि, ग्राम चिंगनार थाना बेनूर में एक बच्चा विगत दो-तीन दिनों से लगातार रो रहा हैं, उक्त सूचना की तस्दीक के लिए पुिलस टीम ग्राम चिंगनार पहुंचकर सूचना के संबंध में ग्रामीणों से पूछताछ किया गया, तो जानकारी प्राप्त हुआ कि, रीता नाग (30) निवासी चिंगनार का बच्चा रात-रात को रोना बताया गया। रीता नाग को उक्त बच्चे के संबंध में पूछताछ करने पर स्वयं का बच्चा होना बताया गया। किन्तु उनका बच्चा होने के संदेह होने पर रीता नाग के पति रामलाल नाग तथा उनके परिजन से पूछताछ किया गया तथा अपहृत बच्चे के माता-पिता द्वारा भी उक्त बच्चे को अपहृत बालक दक्ष होना बताया। आरोपिया रीता नाग के द्वारा पुलिस को गुमराह किया जा रहा था, किन्तु गहन पूछताछ के उपरांत बालक दक्ष का स्वयं अपहरण कर अपराध कारित करना कबूल किया गया। जिस पर आरोपिया रीता नाग के विरूद्ध वैधानिक कार्रवाही की जा रही हैं।

अन्य पोस्ट

Comments