जान्जगीर-चाम्पा

पंचायत सचिवों की कलमबंद-कामबंद हड़ताल तीसरे दिन भी जारी
28-Dec-2020 5:01 PM 43
पंचायत सचिवों की कलमबंद-कामबंद हड़ताल तीसरे दिन भी जारी

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बलौदा, 28 दिसंबर।
पंचायत सचिवों की एक सूत्रीय दो वर्ष पूर्ण कर्मचारियों की नियमितीकरण की मांग को लेकर 26 दिसंबर से जनपद पंचायत कार्यालय के बाहर में कलम बंद कामबंद,अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू कर किए हैं।

पंचायत सचिव संघ के संरक्षक कमलकिशोर सिंह ठाकर ने बताया कि हमारी एक सूत्रीय मांग कोई अभी की नहीं है । 25 वर्षों पुरानी है जिस पर शासन प्रशासन की उपेक्षा एवम अनदेखी रवैया को देखते हुए आज से प्रदेशव्यापी पंचायत सचिवों द्वारा जनपद कार्यालय के बाहर में अनिश्चित कालीन कलम बंद कामबंद हड़ताल के लिए मजबूर होना पड़ा है।

 कमलकिशोर सिंह ठाकुर ने कहा है कि पंचायत सचिव के साथ नियुक्त हुए कर्मचारियों ,शिक्षाकर्मियों का संविदा उपरांत नियमितीकरण किया जा चुका है और हम सभी भी दो वर्षों की परिवीक्षा अवधि पूर्ण हो चुकी है सरकार के वादे के अनुसार हमे भी समान वेतनमान, क्रमोन्नति, ईपीएफ आदि मिलनी चाहिए जबकि हम अंतिम छोर के लोगों तक जाकर कार्य करते है।  इसके लिए छत्तीसगढ़ के 65 विधायकों ने अपनी अपनी अनुशंसा पत्र नियमिति करण के लिए सरकार को दे दिया है फिर भी मुख्यमंत्री कार्यालय से पहल नही हुआ। इसके पूर्व अपनी मांगों के लिए एक सांकेतिक रैली के माध्यम से तहसीलदार बलौदा को ज्ञापन दिए थे। जब तक सरकार हमारी जायज मांगों को पूरा नहीं करती पूरे प्रदेश के सचिव के साथ साथ हम अपने ब्लॉक मुख्यालय में कलम बंद कामबंद कर हड़ताल करेंगे।

हड़ताल में  संरक्षक कमलकिशोर सिंह, अध्यक्ष मित्रेश नारायण शर्मा, सचिव प्रेमप्रकाश पटेल, रामखिलावन केंवट, कृष्ण कुमार राठौर, बलवंत सिंह, गुहाराम, शंकरलाल सोनी, ओमप्रकाश, समलिया घासीराम पटेल,जितेंद्र सिंह ,योगेंद्र कुमार सिंह सहित सभी ग्राम पंचायतों के सचिव कलमबंद-कामबंद हड़ताल में शामिल हुए।

अन्य पोस्ट

Comments