कोण्डागांव

आर्मी, अर्धसैनिक बलों और पुलिस में भर्ती की चाह रखने वाले युवाओं को कैंप विश्रामपुरी में मिलेगा प्रशिक्षण
11-Jan-2021 2:40 PM 39
आर्मी, अर्धसैनिक बलों और पुलिस में भर्ती की चाह रखने वाले युवाओं को कैंप विश्रामपुरी में मिलेगा प्रशिक्षण

छत्तीसगढ़ संवाददाता

कोण्डागांव, 11 जनवरी। पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ तिवारी की सुदूर अंचल के ग्रामों में जनचौपाल के दौरान और कोण्डागांव पुलिस द्वारा संचालित विशेष अभियान के तहत समस्त थानों द्वारा संचालित चलित थाने में भी यह बात संज्ञान में आई थी कि, अंचल के कई नौजवान आर्मी, केंद्रीय अर्धसैनिक बल और पुलिस जैसी वर्दी वाली नौकरियों में भर्ती की इच्छा रखते हैं।

इस संबंध में कुछ दिन पूर्व ग्राम धामनपुरी में आयोजित एसपी सिद्धार्थ तिवारी की जनचौपाल में भी युवाओं ने ऐसे भर्ती परीक्षाओं के लिए प्रशिक्षण की इच्छा जाहिर की थी। जिस पर कोण्डागांव पुलिस अधीक्षक ने सीआरपीएफ कैंप विश्रामपुरी में उक्त प्रशिक्षण की व्यवस्था का वादा किया था। जिसे निभाते हुए 11 जनवरी को सुबह एसपी सिद्धार्थ तिवारी की अध्यक्षता में और सेकंड इन कमांड सीआरपीएफ 188 वी वाहिनी अशोक निगुड़े के मार्गदर्शन में कैंप विश्रामपुरी में ऐसे युवाओं को प्रशिक्षण देने के उद्देश्य से विशेष शिविर का आयोजन किया गया।

थाना विश्रामपुरी और चैकी बाँसकोट क्षेत्र के ग्रामों के प्रतिनिधियों आमजनो से संपर्क कर सशस्त्र बलों में नौकरी की चाह रखने वाले युवाओं को प्रशिक्षण व्यवस्था की जानकारी दी गई थी। शिविर में प्रशिक्षण के लिए रेजिस्ट्रेशन कराने आये अभ्यर्थियों में न सिर्फ पुरुष अपितु महिलाओं ने भी हिस्सा लिया। जिसकी सराहना करते हुए अधिकारियों ने उचित व्यवस्था कराने का आश्वासन दिया। शिविर में आये अभ्यर्थियों के लिए मध्यान्ह भोज का आयोजन भी किया गया। शिविर में विभिन्न सशस्त्र बलों में भर्ती के लिए आम भर्ती की प्रक्रिया के अनुरूप शारीरिक प्रशिक्षण देने तथा लिखित परीक्षा और भर्ती में ध्यान रखने वाली अन्य बातों की जानकारी देने के लिए जिला पुलिस कोण्डागांव और सीआरपीएफ 188वी वाहिनी के मास्टर ट्रेनर्स की व्यवस्था की गई हैं।

एसपी कोण्डागांव के निर्देश व उप पुलिस अधीक्षक दीपक मिश्रा के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी विश्रामपुरी रविशंकर धु्व और उप निरीक्षक प्रमोद कतलम द्वारा क्षेत्र के युवाओं हेतु उठाए इस कदम की चर्चा आज पूरे अंचल में हैं। तथा युवाओं में भी सुरक्षा बलों के इस प्रयास के कारण सशस्त्र बलों के प्रति विश्वास बढ़ा है एवं सुरक्षा बलो में भर्ती के लिए नौजवानों में उत्साह है।

अन्य पोस्ट

Comments