सरगुजा

टोनही के शक में भाभी की हत्या, 24 घंटे के अंदर 2 बंदी
15-Jan-2021 9:27 PM 45
टोनही के शक में भाभी की हत्या, 24 घंटे के अंदर 2 बंदी

छत्तीसगढ़ संवाददाता

लखनपुर, 15 जनवरी। लखनपुर पुलिस ने ग्राम अंधला में हुए एक महिला की हत्या की गुत्थी 24 घंटे के अंदर सुलझा ली। टोनही के शक में देवर ने भाभी की हत्या की थी। पुलिस ने मुख्य आरोपी व सहयोगी दोनों आरोपियों को पकड़ कर उनके विरुद्ध हत्या का मामला दर्ज कर लिया है।

थाना प्रभारी शिशिर कांत सिंह ने बताया कि लखनपुर थाना क्षेत्र के ग्राम अंधला निवासी प्रार्थी राम सिंह ने 12 जनवरी को थाने में आकर पत्नी नईहारो बाई 28 वर्ष के 11 जनवरी से लापता होने की सूचना दिया गया था। थाने में गुम इंसान कायम किया जाकर उक्त महिला की पतासाजी किया जा रहा था। विवेचना करने पहुंची पुलिस की टीम ने घर पर कई जगहों पर खून के धब्बे देखे जाने पर संदेह होने लगा। 14 जनवरी को महिला का शव अंधला बौराही ढोढगा के पास संदिग्ध अवस्था में मिला था।

डॉक्टरों के द्वारा मृतका के शरीर में आई विभिन्न गंभीर चोट के कारण मृत्यु होना लेख करने पर हत्या करना प्रतीत होने से अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। पुलिस को आरोपियों की पतासाजी एवं सदस्यों से पूछताछ पर पता चला कि मुख्य आरोपी अजय सिंह उर्फ गुड्डू 22 वर्ष निवासी ग्राम अंधला माझापारा के द्वारा मृतका नईहरो बाई पति राम सिंह को काफी पहले से टोनही बता कर हत्या करने का मंसुबा बनाया हुआ था। सुनियोजित तरीके से 11 जनवरी को दोपहर 1 बजे घर में सूनसान देखकर भाभी को मोबाइल पर फोन कर अकेले आने को कहकर बुलाकर उसकी लाठी डंडे एवं गला दबाकर हत्या कर दी तथा उसके शव को ठिकाने लगाते समय हाथ पैर को बांधकर उसे बोरी में घर के पीछे अरहर बारी में रख दिया।

रात्रि में अपने एक सहयोगी अंधला माझा पारा निवासी लक्ष्मण राम उम्र 32 वर्ष के साथ लाश को घर से लगभग 500 मीटर दूरी बौराही ढोढगा में दोनों आरोपियों के द्वारा ठिकाना लगा दिया गया था।

उक्त शव को गत 14 जनवरी को कुछ चरवाहों के द्वारा देखे जाने पर इसकी जानकारी थाने को दी गई। तत्पश्चात पुलिस मौके पर पहुंच उक्त अजय सिंह उर्फ गुड्डू के द्वारा संदेह होने पर उसकी पतासाजी करती हुई उदयपुर थाना अंतर्गत ग्राम मरेया पहुंच कर आरोपी को गिरफ्तार कर पूछताछ की गई तो आरोपी द्वारा स्वीकार किया गया कि वह अपने भाभी को टोनही समझता था और हत्या करने की पहले से ही मन्सूबा बनाया हुआ था। ग्यारह जनवरी को सुनसान देखकर महिला की हत्या कर दी गई। पुलिस द्वारा मुख्य आरोपी अजय सिंह व दूसरा सहयोगी आरोपी लक्ष्मण राम को गिरफ्तार कर रिमांड पर जेल भेज दिया है।

अन्य पोस्ट

Comments