कोण्डागांव

गौ सेवा आयोग अध्यक्ष ने गौ सेवा संस्थान, गौसदनों एवं गोठानों की ली जानकारी, दिए निर्देश
20-Jan-2021 9:39 PM 22
गौ सेवा आयोग अध्यक्ष ने गौ सेवा संस्थान, गौसदनों एवं गोठानों की ली जानकारी, दिए निर्देश

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
कोण्डागांव, 20 जनवरी।
जिला कार्यालय के सभाकक्ष में 20 जनवरी को अध्यक्ष छत्तीसगढ़ राज्य गौ सेवा आयोग अध्यक्ष डॉ. रामसुंदर दास की अध्यक्षता में पशु क्रूरता निवारण समिति की बैठक संपन्न हुई। 

बैठक में महामण्डलेश्वर राजेश्री डॉ. महंत रामसुंदर दास ने जिले की गौ सेवा संस्थान, गौसदन व गोठानों के गतिविधियों की जानकारी लेते हुए कहा कि, छत्तीसगढ़ राज्य कृषि प्रधान राज्य हैं व कृषि के साथ-साथ पशु पालन गौ सेवा संरक्षण का अभिन्न अंग माना जाता हैं। वर्तमान परिवेश में कृषि कार्य के अतिरिक्त पशु पालकों द्वारा व्यवसायिक तौर पर आर्थिक सबल के लिए पशु पालन कार्य लिया जा रहा है। इसके साथ ही शासन द्वारा गोठानों में गौवंश पशुओं को संरक्षण और बेहतर रख-रखाव करके ग्रामों में पशु पालकों व ग्रामीणों को उनकी आर्थिक एवं आजीविका संबंधी उपयोगिता से जोडऩे का सराहनीय कार्य प्रारंभ किया गया है। इसके अलावा सडक़ों पर रहने वाले पशुओं के प्रति समाज के नजरिए को सकारात्मक बनाने की आवश्यकता हैं। चूंकि पशओं में वर्तमान परिवेश में विभिन्न तरह की रख-रखाव, परिवहन, मौसम के अनुकूल भारी कार्य लिया जाना, खुले में चरागन, सडक़ों व अन्यत्र स्थानों पर साधारणत: देखा जा रहा है। जिसके समुचित व्यवस्थापन किया जाना आवश्यक है।

बैठक के एजेण्डे में जैसे पशु परिवहन के लिए क्षमता के अनरुप एवं शासन के नियमानुसार पशुओं का परिवहन, पशुओं के परिवहन के समय मौसम वर्षा, शीत एवं ग्रीष्म ऋतुओं में परिवहन के समय का विशेष ध्यान रखने, सडक मार्ग पर परिवहन में क्षमता के अनुरुप व वाहन की गति नियंत्रण, सडक़ो पर खुले मे विचरण करने वाले पशुओं को पशु पालकों की सहायता से खुले मे न छोडने संबंधी प्रचार प्रसार, सडक़ दुर्घटना होने की स्थिति मे प्राथमिक उपचार उपरांत नजदीकी गौशाला-गौसदन में रखने, पशुओं के प्रति क्रूरता करने वाले व्यक्तियों पर निगरानी करने, उन्हें सचेत करना-पशुओं के प्रति क्रूरता करने वाले व्यक्तियों पर कड़ी निगरानी करते हुए उन्हें उचित मार्गदर्शन व पशु क्रूरता अधिनियम के तहत कार्यवाही, नगर पालिका, नगर पंचायत अंतर्गत मांस, मछली बाजार व्यवस्थित करने एवं मांस परीक्षण, जिले के समस्त नगर पालिका, नगर पंचायत क्षेत्र अंतर्गत मांस, मछली बाजार पर शासन के नियमानुसार उचित व्यवस्थापन एवं मांस परीक्षण पशु चिकित्सा सहायक शल्यज्ञ से कराने उपरांत बिक्री करने एवं मांस, मछली व्यवसायियो का पंजीयन जैसे बिन्दु शामिल थे। बैठक में पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ तिवारी, वनमंडलाधिकारी उत्तम गुप्ता, उप संचालक पशु चिकित्सा सेवाएं डॉ. एसके द्विवेदी, कामधेनु गौसेवा संस्थान के सदस्य सहित संबंधित अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।

अन्य पोस्ट

Comments