बस्तर

देश के किसानों को खालिस्तानी कहने वाले भाजपा प्रदेशाध्यक्ष मांगे देश से माफी-जावेद
21-Jan-2021 9:06 PM 34
 देश के किसानों को खालिस्तानी कहने वाले भाजपा प्रदेशाध्यक्ष मांगे देश से माफी-जावेद

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

जगदलपुर, 21 जनवरी । युवक कांग्रेस के प्रदेश संयुक्त सचिव बीजापुर जिला प्रभारी और खेल कांग्रेस के शहर जिला अध्यक्ष जावेद खान ने विज्ञप्ति के माध्यम से विष्णु देव साय के किसानों को खालिस्तानी आतंकवादी कहकर संबोधित करने वाले बयान वाला वीडियो जारी कर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष पर किसानों का अपमान करते हुए उन्हें खालिस्तानी कहने वाले बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए किसानों से माफी मांगने को कहा है।

जावेद ने कहा है कि बस्तर संभाग के पांच दिवसीय दौरे पर निकले भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने बस्तर दौरे के प्रथम दिन कांकेर में पत्र वार्ता को संबोधित करते हुए देश के किसानों का अपमान किया है। उन्होंने देश के किसान जो केंद्र की किसान विरोधी तीन काले कानूनों का विरोध कर रहे हैं और कड़ाके की ठंड में स्वयं की जान की परवाह किए बिना लगातार दो महीने से डटे हुए हैं और अब तक साठ से ज्यादा किसान इस आन्दोलन को सफल बनाने और इन काले कानूनों को वापस लेने अपनी शहादत दे चुके हैं, जिन्हें खालिस्तानी आतंकवादी करार दिया है।

 विष्णु देव साय के इस अनर्गल बयान की कड़ी निंदा करते हुए किसानों के सम्मान में बयान वापस लेने कहा है और अपने बयान पर देश और छत्तीसगढ़ के किसानों से माफी मांगने कहा है। एक तरफ तो छत्तीसगढ़ के किसानों को बरगलाने के लिए विष्णु देव साय छत्तीसगढ़ की भूपेश सरकार पर तोहमत मढ़ रहे हैं और स्वयं को किसान हितैषी बताने से पीछे नहीं हट रहे हैं, वहीं देश के किसानों को खालिस्तानी कहकर उनका अपमान कर रहे हैं। एक तरफ विष्णु देव साय स्वयं किसान के रूप में अपनी उपज को छत्तीसगढ़ के समर्थन मूल्य में एवं राजीव गांधी न्याय निधि का फायदा उठाते बेच रहे हैं, वहीं प्रदेश के किसानों को बरगलाने के लिए धान खरीदी केंद्रों में तथाकथित अव्यवस्थायें गिना रहे हैं।

 छत्तीसगढ़ के भारतीय जनता पार्टी के शीर्ष नेता एवं स्वयं प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय छत्तीसगढ़ की धान खरीदी नीति के अंतर्गत योजना का लाभ लेते हुए नोट गिन रहे हैं। अब तक रमन सिंह ने 6.25 लाख रुपये से ज्यादा के धान जनवरी के पहले सप्ताह में ही बेच दिये थे, तो वहीं उनके बेटे पूर्व सांसद अभिषेक ने पांच लाख से ज्यादा के धान दिसंबर में ही बेच दिये थे।

इसी तरह नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने 2.25 लाख, प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने 1.75 लाख, सांसद संतोष पांडेय ने 3.33 लाख से ज्यादा, सांसद गोमती साय ने 2.20 लाख, सांसद विजय बघेल ने 4.65 लाख, पूर्व सांसद नंदकुमार साय ने 4 लाख, राम प्रताप सिंह ने 1.85 लाख, विजयशंकर पटनायक ने 5.23 लाख, रामसेवक पैकरा ने 1.21 लाख, रणविजय जूदेव 2.93 लाख, पुन्नूलाल मोहले 6.11 लाख, डमरूधर पुजारी ने 1.12 लाख,. रजनीश सिंह 4.70 लाख, कमलभान सिंह ने 2.05 लाख रुपये के धान बेचे हैं और प्रदेश के किसानों को गुमराह करने का काम कर रहे हैं जिसमें भी वो चारों खाने चित हो चुके हैं।

प्रदेश में यदि कहीं धान खरीदी को लेकर के प्रदेश सरकार को कुछ परेशानी का सामना करना पड़ रहा है तो वह बारदाने को लेकर है, जिसे केंद्र की मोदी सरकार ने द्वेषपूर्ण रवैया अपनाते हुए मांगे गए तीन लाख बारदानों  के आधे बारदाने भी अब तक राज्य सरकार को जारी नहीं किये हैं।  विष्णु देव साय जी यदि किसानों की इतनी फिक्र करते हैं तो प्रदेश भ्रमण से पहले दिल्ली जाकर छत्तीसगढ़ सरकार के द्वारा मांगे गए बारदाने स्वयं अपने साथ लेकर आएं और प्रदेश के किसान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के हाथों में सौपें।

अन्य पोस्ट

Comments