सरगुजा

किसानों की ऐसी दुर्दशा पहले कभी नहीं हुई थी, राज्य सरकार किए वादे को निभाएं- नेताम
22-Jan-2021 8:19 PM 31
किसानों की ऐसी दुर्दशा पहले कभी नहीं हुई थी, राज्य सरकार किए वादे को निभाएं- नेताम

  किसानों से वादाखिलाफी के विरोध में सरगुजा-बलरामपुर में भाजपाइयों ने दिया धरना, कलेक्टोरेट घेरा   

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

अम्बिकापुर, 22 जनवरी। छत्तीसगढ़ के किसानों के साथ हो रहे अन्याय व कांग्रेस सरकार की वादाखिलाफी के विरोध में भाजपा सरगुजा व बलरामपुर के द्वारा एक दिवसीय धरना प्रदर्शन के बाद कलेक्ट्रेट कार्यालय का घेराव किया गया। इस दौरान भाजपाइयों ने राज्य सरकार के विरोध में जमकर नारेबाजी की व किसानों से किए वादों को पूरा करने कहा। बलरामपुर- रामानुजगंज जिले में राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम के नेतृत्व में सैकड़ों की संख्या में भाजपा कार्यकर्ता व किसानों ने कलेक्टर कार्यालय का घेराव किया। श्री नेताम ने विरोध स्वरूप  बैलगाड़ी पर बैठकर कलेक्टर कार्यालय तक पहुंचे और विरोध प्रदर्शन किया।

कंधे पर हल, धान की बाली व जुआठ लिए धरना प्रदर्शन को संबोधित करते हुए रामविचार नेताम ने कहा कि कांग्रेस के झूठे वादों में आकर प्रदेश की जनता ने सत्ता सौंप दी थी, परन्तु अब जनता जाग चुकी है। प्रदेश के किसान धान नहीं खरीदे जाने पर आत्महत्या कर रहे हैं और भूपेश सरकार दो साल का जश्न मना रही है। किसानों की ऐसी दुर्दशा पहले कभी नहीं हुई थी।सरकार किसानों का से किए हुए वादे को पूरा करें व धान खरीदी में जो व्यवधान उत्पन्न हो रहा है उसे तत्काल दूर करते हुए धान खरीदी की तिथि 31 जनवरी की बजाय 15 फरवरी तक करें। रामविचार नेताम के साथ सैकड़ों किसान भी रैली की सक्ल में कंधे पर हल लिए व धान की बालियां लिए हुए कलेक्टर कार्यालय तक पहुंचे व जमकर नारेबाजी करते हुए विरोध प्रदर्शन किय।

सरगुजा संभाग के अंबिकापुर मुख्यालय में भाजपा नेताओं तथा कार्यकर्ताओं ने स्थानीय घड़ी चैक में धरना देकर कलेक्ट्रेट का घेराव किया। इस अवसर पर धरने को संबोधित करते हुए भाजपा के वरिष्ठ नेता अनिल सिंह मेजर ने कहा कि हमारे अन्न दाता अपना धान बेचने के लिए परेशान हंै और सरकार की नीयत धान खरीदने की नहीं लगती। उल्टे गिरदावरी और रकबा कम करके किसी तरह से धान खरीदी करने से बचना चाहती है। भाजपा ने आज बिगुल फूंक दिया है, हम किसानों के इस संघर्ष की लड़ाई को आगे तक लेकर जाएंगे।

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता अनुराग सिंह देव ने कहा कि आज भाजपा किसानों के साथ खड़े होकर किसानों के हित में पूरे प्रदेश में प्रदर्शन कर रही है, किसानों के इस आंदोलन को फर्जी बताने वाले प्रदेश के मुख्यमंत्री यह समझ लें कि यह किसानों का आंदोलन रूकने वाला नहीं है। सरकार को किसानों का एक-एक दाना धान खरीदना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि कोरवा, पण्डो मझवार तथा वन भूमि पर काबिज अन्य आदिवासी बन्धुओं को भाजपा सरकार नें वन भूमि पट्टा दिया था परन्तु गरीब व आदिवासी विरोधी इस भूपेश सरकार नें इस वन भूमि पर उपजे धान को खरीदने से साफ मना कर दिया है।

इस अवसर पर पूर्व सांसद कमलभान सिंह ने कहा कि कांग्रेस की सरकार जब-जब आई है तब-तब किसान परेशान हुआ है, एक ओर जहॉं किसानों के हित में बने केन्द्र के तीनों कृषि कानून का कांग्रेस विरोध करती है वहीं दूसरी ओर छ0ग0 के किसानों को बारदाना के लिए भी तरसाती है। कांग्रेस का दोहरा चरित्र अब प्रदेश का किसान समझ चुका है।

इस अवसर पर पूर्व विधायक विजय नाथ सिंह ने कहा कि कांग्रेस की सरकारों के समय धान को पानी के कटोरा में डुबो डुबो कर खरीदा जाता था, आज भी प्रदेश का किसान कांग्रेस की सरकार में त्रस्त हैं।

इस अवसर पर नगर निगम नेता प्रतिपक्ष प्रबोध मिंज ने कहा कि चुनाव के समय झूठे वादे करके सरकार बनाने वाली कांग्रेस अब भी चेत जाये, जनता ने आपको सरकार में बैठाया है अब वही जनता सत्ता से उतारेगी।

धरना कार्यक्रम को वरिष्ठ नेता त्रिलोक कपूर कुशवाहा समेत भाजपा के अन्य वरिष्ठ नेताओं ने भी संबोधित किया।धरना कार्यक्रम के पश्चात कलेक्ट्रेट घेराव के दौरान राज्यपाल के नाम ज्ञापन भी सौंपा गया, जिसमें किसानों की समस्याओं का त्वरित समाधान करने की मांग सरकार के समक्ष रखी गयी। कार्यक्रम का संचालन जिला महामंत्री अभिमन्यु गुप्ता व जिला उपाध्यक्ष विनोद हर्ष नें संयुक्त रूप से किया। बलरामपुर जिले में धरना प्रदर्शन कार्यक्रम में मुख्य रूप से पुष्पा नेताम, राम किशुन सिंह,ओम प्रकाश जयसवाल,रविंद्र तिवारी,धीरज सिंह देव सहित भाजपा के सैकड़ों कार्यकर्ता व किसान मौजूद थे।

अन्य पोस्ट

Comments