महासमुन्द

हमारे देवी देवता जंगल में, पहाड़ों पर निवास करते हैं, प्रकृति ही हमारी देवता है-लखमा
25-Jan-2021 5:10 PM 31
हमारे देवी देवता जंगल में, पहाड़ों पर निवास करते हैं, प्रकृति ही हमारी देवता है-लखमा

भोथा में तीन दिवसीय बूढ़ादेव महोत्सव

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
महासमुन्द, 25 जनवरी।
बागबाहरा ब्लॉक के ग्राम भोथा में तीन दिवसीय बूढ़ादेव महोत्सव का आयोजन रविवार से शुरू हो गया। सूर्यवंशी जगत परिवार देव कोठार भोथा के तत्वावधान में कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। मुख्य अतिथि के रूप में पहुंचे आबकारी और जिले के प्रभारी मंत्री कवासी लखमा ने कार्यक्रम का शुभारंभ किया। वहीं अध्यक्षता संसदीय सचिव एवं खल्लारी विधायक द्वारिकाधीश यादव ने की। 

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि लखमा ने कहा कि आदिवासी शब्द का अर्थ ही यह है कि जो प्राचीन काल से निवास कर रहा हो। मुझे गर्व है कि मैं आदिवासी हूं और ऐसे समाज का नेतृत्व कर रहा हूंए जो आदि काल से आज पर्यंत प्रकृति की गोद में ही अपना जीवन यापन करते आया है। लखमा ने कहा कि हमारे देवी देवता तो जंगल में, पहाड़ों में निवास करते हैं, क्योंकि प्रकृति ही हमारी देवी देवता हैं। हम प्रकृति की ही पूजा करते हैं। इसी आदिवासी समाज के द्वारा ही मुझे मंत्री पद तक पहुंचाया गया है। आज मैं आप लोगों का नेतृत्व कर रहा हूं। हम आदिवासी लोग अधिक पूजा पाठ करते हैं। अपने देवी-देवताओं को मनाते रहते हैं और साथ में हमारा ही समाज एक ऐसा समाज है जो अपने देवी-देवताओं से अपनी बात मनवा लेता है। 

विशेष अतिथि के रूप में महासमुन्द कांग्रेस कमेटी की जिलाध्यक्ष डॉ.रश्मि चंद्राकर, महेंद्र चंद्राकर, बागबाहरा शहर कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह ठाकुर, बागबाहरा ग्रामीण कांग्रेस अध्यक्ष रवि निषाद,  तेजन चंद्राकर,  विष्णु महानंद, करण दीवान, अंकित बागबाहरा, गणेश शर्मा, एल्डरमैन सिकंदर ठाकुर, एल्डरमैन राहुल सलूजा, पार्षद मंता यादव, गिरीश पटेल, लखबीर छाबड़ा प्रमुख रूप से उपस्थित थे। इस दौरान प्रमुख रूप से करतार सिंह नायक, विधायक प्रतिनिधि राजू चंद्राकर, राजेश सोनी, संतोष जैन, लखबीर छाबड़ा के साथ-साथ भारी संख्या में कांग्रेसी उपस्थित थे। जिले के प्रभारी मंत्री कवासी लखमा का काफिला बागबाहरा से निकला तो जगह-जगह कार्यकर्ताओं और ग्रामीणों ने उनका भव्य स्वागत किया। भोथा गांव की सरहद में ग्राम वासियों के द्वारा पुष्प वर्षा के साथ लखमा का स्वागत किया। 
 

अन्य पोस्ट

Comments