बीजापुर

धान बेचने की बात झूठ, कांग्रेस साबित करेगी तो छोड़ दूंगा पद- श्रीनिवास
25-Jan-2021 8:51 PM 47
धान बेचने की बात झूठ, कांग्रेस साबित करेगी तो छोड़ दूंगा पद- श्रीनिवास

   भाजपा जिलाध्यक्ष का पलटवार, कहा झूठ का सहारा ले रहे कांग्रेसी   

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बीजापुर, 25 जनवरी। भाजपा जिलाध्यक्ष श्रीनिवास मुदलियार ने उनकी ओर से केन्द्र में धान बेचने और उन्हें पैसे मिलने के कांग्रेस की बात पर पलटवार करते कहा कि ये बात यदि प्रमाणित हो जाएगी, तो वे अपने पद और पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे देंगे।

यहां पत्रकारों से चर्चा में भाजपा नेता श्रीनिवास मुदलियार ने कहा कि कांग्रेस ने उनकी ओर से 174 क्विंटल धान बेचने और इसके बदले उन्हें तीन लाख दस हजार अठियासी रूपए मिलने का आरोप लगाया है। ये बात पूरी तरह झूठ है क्योंकि वे खेत के भूस्वामी नहीं है और इसकी पुष्टि भू अभिलेख से की जा सकती है। वे किसान के तौर पर पंजीकृत नहीं हैं तो धान कैसे बेच सकते हैं। पिता के निधन के बाद भूस्वामी उनकी माता हैं और जमीन का बंटवारा नहीं हुआ है। कांग्रेस की खुद की बात में विरोधाभास है। एक ओर तो कांग्रेस कह रही है कि भाजपा नेताओं के खाते में पैसे आए हैं और दूसरी ओर ये बात भी सच है कि किसानों के खातों में पैसे जमा नहीं हो रहे हैं। कांग्रेस की फितरत झूठ बोलने की है।

पत्र वार्ता में भाजपा अजजा मोर्चा के प्रदेश कार्यसमिति सदस्य सुखलाल पुजारी एवं महिला मोर्चा जिलाध्यक्ष नीता शाह मौजूद थे।

सांसद के आरोप को तरजीह नहीं

भाजपा जिलाध्यक्ष श्रीनिवास मुदलियार ने साफ तौर पर कहा कि आरएसएस और भाजपा को नक्सलियों से खतरनाक बताने के सांसद दीपक बैज के बयान को वे तरजीह देना नहीं चाहते हैं। वे इस बयान की निंदा करते हैं। जब भी देश में आपदा आई, तब आरएसएस ने सेवा के लिए हाथ आगे बढ़ाए। इसकी तारीफ खुद महात्मा गंाधी और सुभाषचंद्र बोस ने की थी। 

विकास तो भाजपा राज में दिखा

पुल और सडक़ के विरोध के पीछे भाजपा के हाथ के कांग्रेस के आरोप पर श्रीनिवास मुदलियार ने कहा कि भाजपा विकास की हिमायती रही है और पंद्रह सालों में इसी जिले में विकास के ऐतिहासिक काम हुए। तिमेड़, रामपुरम और तारूड़ के अलावा नैषनल हाईवे पर पुल बनाए गए। जिले में सडक़ों का जाल बिछा। इंद्रावती नदी में बन रहे पुल के ग्रामीणों के विरोध के सबब के बारे में कुछ कहने से बचते भाजपा जिलाध्यक्ष ने कहा कि रमन सरकार के दौरान ऐसे विरोध देखने में नहीं आए।

अन्य पोस्ट

Comments