बिलासपुर

पेन्ड्रा में पत्रकार को घंटों बंधक बनाकर लूटपाट, आरोपी पुलिस के सामने भी जान से मारने की धमकियां देता रहा
27-Jan-2021 11:20 PM 66
पेन्ड्रा में पत्रकार को घंटों बंधक बनाकर लूटपाट, आरोपी पुलिस के सामने भी जान से मारने की धमकियां देता रहा

शराब तस्करी के आरोपी हर्ष छाबरिया सहित चार के खिलाफ अपराध दर्ज

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बिलासपुर, 27 जनवरी।
गणतंत्र दिवस का समारोह देखकर लौट रहे एक पत्रकार को तीन लोगों ने स्कूल के पास करीब एक घंटे तक बंधक बनाकर रख लिया और मोबाइल छीन लिया। घटना की जानकारी मिलने पर दूसरे पत्रकारों ने पहुंचकर उसे किसी तरह से छुड़ाया।

गौरेला-पेन्ड्रा-मरवाही जिले के पेन्ड्रा थाने में मीडियाकर्मी मुकेश विश्वकर्मा द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत के अनुसार वह 26 जनवरी का कार्यक्रम देखकर अपने घर लौट रहे थे। रास्ते में दूसरी ओर से आदतन अपराधी व शराब तस्करी के आरोपी हर्ष छाबरिया ने आवाज देकर रुकवाया और गाड़ी की चाबी निकाल ली। उसने अपने साथी सुशांत गौतम, श्रीकांत ताम्रकार व नवीन विश्वकर्मा सहित कुछ अन्य साथियों को फोन करके बुला लिया। सभी ने घेरकर उसके साथ गाली-गलौच शुरू कर दी और मुझे अपने साथियों को बुलाने के लिये धमकाने लगे। शिकायतकर्ता पत्रकार मुकेश ने अपने पत्रकार साथियों को फोन किया। तभी सभी आरोपियों ने मिलकर उसे बंधक बना लिया और बलपूर्वक मल्टीपरपज स्कूल की बाउन्ड्री के भीतर ले गये। यहां पर आरोपी हर्ष छाबरिया के कहने पर श्रीकांत ने जैकेट से उसका मोबाइल फोन निकाल लिया ताकि पुलिस को मदद के लिये वह फोन कर सके। वे फोन की पड़ताल करने लगे। मल्टीपरपस स्कूल बाउन्ड्री के भीतर वे लगातार गाली गलौच करते हुए जान से मारने की धमकी देते रहे। शिकायत के मुताबिक छाबरिया ने कहा कि वह एक दबंग व्यक्ति है, तुम मेरे विरोधी हो, पुलिस को मेरी सूचना देते हो, पत्रकारिता करोगे या जिंदा रहोगे यह मैं तय करूंगा, जिसको तुम बुलाना चाहो बुला लो। इसी दौरान पत्रकार अखिलेश नामदेव और दुर्गेश सिंह बिसेन मौके पर पहुंचे लेकिन उनके साथ भी हर्ष छाबरिया द्वारा बदसलूकी की गई। पत्रकार साथियों ने उसे बंधन से छुड़वाया। मौके पर इस बीच पुलिस भी पहुंच गई।

शिकायत में कहा गया है कि आरोपी हर्ष छाबरिया आपराधिक प्रवृत्ति का व्यक्ति है। उसके खिलाफ कई तरह के अपराध दर्ज हैं। इसलिये वह डरा हुआ है।

पुलिस ने चार आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 294, 34, 341 तथा 506 के तहत अपराध दर्ज कर विवेचना शुरू कर दी है। 

अन्य पोस्ट

Comments