बिलासपुर

बिलासपुर जिले में आठ चौक चौराहों पर चक्का जाम, शांतिपूर्ण रहा, कोई गिरफ्तारी नहीं
06-Feb-2021 7:29 PM 45
बिलासपुर जिले में आठ चौक चौराहों पर चक्का जाम, शांतिपूर्ण रहा, कोई गिरफ्तारी नहीं

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बिलासपुर, 6 फरवरी। किसान कानूनों के विरोध में संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर बिलासपुर जिले में जगह-जगह चक्काजाम किया गया। पूरा आंदोलन शांतिपूर्ण रहा और किसी की गिरफ्तारी नहीं की गई।

पुलिस ने जानकारी दी कि बिलासपुर शहर के सिरगिट्टी इलाके के बन्नाक चौक पर किसानों के समर्थन में दोपहर 12 बजे चक्काजाम शुरू किया गया। इसके अलावा बिल्हा तहसील के पेन्ड्रीडीह बाईपास, तखतपुर थाने के बेलसरी मोड़ पर, सीपत थाना क्षेत्र के मटियारी, मस्तूरी थाने के लावर, सकरी थाने के कोटा तिराहे, कोटा मुख्य मार्ग और बेलगहना चौकी के केंदा में ग्रामीण और नागरिकों ने सडक़ पर धरना दिया। इसके चलते वाहनों की आवाजाही अपरान्ह 3 बजे तक रुकी रही।

आज केंद्र सरकार के किसान विरोधी तीन काले कानून के विरोध में ब्लॉक कांग्रेस कमेटी कोटा के नेतृत्व में कोटा नाका चौक में चक्काजाम किया गया।

ज्यादातर स्थानों पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने आंदोलन की अगुवाई की। चक्काजाम आंदोलन में कांग्रेस के विभिन्न प्रकोष्ठों के सदस्यों ने भी भाग लिया।

बिलासपुर के नेहरू चौक बीते दो माह से संयुक्त किसान मोर्चा का धरना चल रहा है, जिसमें आज कांग्रेस नेता, कार्यकर्ता शामिल हुए। इनमें पूर्व विधायक चंद्रप्रकाश बाजपेयी और शहर कांग्रेस प्रवक्ता ऋषि पांडेय सहित अनेक लोग उपस्थित रहे। उन्होंने अपने उद्बोधन में किसानों के लिये लाये गये कानून को काला कानून बताया और इसे तत्काल वापस लेने की मांग की।

पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल ने 'छत्तीसगढ़' को बताया कि चूंकि यह आंदोलन निर्धारित समय तक था इसलिये कोई गिरफ्तारी नहीं की गई। हालांकि हर जगह पुलिस बल की पर्याप्त मौजूदगी रही।

 

अन्य पोस्ट

Comments