बस्तर

शहर व ग्रामीण क्षेत्रों में भू-माफिया सक्रिय
23-Feb-2021 5:56 PM 151
शहर व ग्रामीण क्षेत्रों में भू-माफिया सक्रिय

50 को नोटिस दिया गया है, बहुत जल्द होगी बड़ी कार्रवाई-निगमायुक्त

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
जगदलपुर, 23 फरवरी।
बस्तर जिले में भू- माफियाओं द्वारा सारे नियम व कानूनों की धज्जियां उड़ाते हुए शहर एवं शहर के आसपास स्थित ग्रामीण क्षेत्रों की जमीन सस्ते दामों पर खरीद कर अधिक दामों में प्लॉट कटिंग कर बेचा जा रहा है।
जमीन की दरों में वृद्धि के मामले में बस्तर दिल्ली मुंबई से भी आगे बढ़ते हुए पूरे देश में दूसरे स्थान पर है। इसी दर वृद्धि का फायदा उठाते हुए भूमाफिया भी ज्यादा सक्रियता के साथ अपने हित साध कर राजकीय कोष को तगड़ा झटका दे रहे हैं। साथ ही अवैध प्लाटिंग का खेल लगभग 20 सालों से जारी है।

अवैध प्लाटिंग में राजस्व विभाग की मिलीभगत उजागर होती है। बताया जाता है कि राजस्व विभाग के कर्मचारियों को इस कार्य के लिए अच्छी खासी रकम व वाहन तक भू माफियाओं द्वारा दिया जाता है।
कॉलोनी अधिनियम जहां पूरे देश में लागू है, वहीं छत्तीसगढ़ में भी पूरी कठोरता के साथ नियमों का पालन कराने प्राधिकरण गठित की गई है। लगभग 2 वर्ष पूर्व इसमें संशोधन करते हुए रेरा का गठन भी किया गया है जो कॉलोनाइजर पर नियंत्रण रखने का कार्य करती है। कॉलोनाइजर द्वारा बनाए गए कॉलोनी के हितग्राहियों की रक्षा की जिम्मेदारी रेरा की होती है। हितग्राहियों की हितों की रक्षा हेतु कठोर नियम भी रेरा द्वारा निर्धारित है, परंतु आश्चर्य का विषय है कि जगदलपुर शहर एवं आसपास के पंचायतों में भू माफियाओं ने हजारों एकड़ जमीन को सस्ते दर पर खरीद कर कई गुना मुनाफा कमाया है। इस मुनाफाखोरी में नियमों का पूरी तरह उल्लंघन किया गया है। 

जानकारी के अनुसार जहां किसी मजबूर रिश्तेदारों को अपनी पैतृक संपत्ति का बंटवारा करवाने पीढिय़ां गुजर जाती है, वहीं भूमाफिया बड़े-बड़े भूखंडों को खरीदकर हजार, 2000 वर्ग फीट के छोटे भूखंडों में बेहद आसानी से बंटवारा कर पंजीयन करवाने में सफल हो जाते हैं और इस प्रकार के अवैध कारोबार को निश्चित तौर पर राजस्व अमले के निचले तबके का पूर्ण सहयोग एवं समर्थन मिलता है, जिसके एवज में पटवारी स्तर के कर्मचारी मालामाल होते देखे गए हैं। छनकर आई जानकारी के मुताबिक कई मामले में तो संबंधित हलके के पटवारियों को महंगी-महंगी गाडिय़ां तक घूस के रूप में अवैध कॉलोनाइजर देते रहे हैं ।

इन स्थानों पर हुई है अवैध प्लाट कटिंग 
कालीपुर, कंगोली, कुम्हरावंड, पंडरीपानी, करकापाल, तुरेनार, चोकावाड़ा, नगरनार, अड़ावाल, खमारगांव, हलबा कचोरा, आसना, धुरगुड़ा, कस्तूरी इसके अतिरिक्त अन्य ग्रामों में भी अवैध प्लाट कटिंग जारी है। 
इस संबंध में निगमायुक्त ने बताया कि 50 लोगों को नोटिस दिया गया है और बहुत जल्द ही बड़ी कार्रवाई होगी।
 

अन्य पोस्ट

Comments