बिलासपुर

भनवारटंक मंदिर में युवक की हुई हत्या की गुत्थी पर्ची के टुकड़े से सुलझी, एमपी के 3 बंदी, 6 की तलाश
24-Feb-2021 11:53 AM 38
भनवारटंक मंदिर में युवक की हुई हत्या की गुत्थी पर्ची के टुकड़े से सुलझी, एमपी के 3 बंदी, 6 की तलाश

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बिलासपुर, 24 फरवरी।
बेलगहना चौकी के मरहीमाता मंदिर के दर्शन के लिये गये युवक की लाठी डंडों और रसोई के औजारों से पीट-पीटकर की गई हत्या के मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों को जैतहरी मध्यप्रदेश से गिरफ्तार किया है। घटना में शामिल 6 आरोपी अभी भी फरार हैं। पुलिस ने मरही माता मंदिर में कटाई गई एक पर्ची के फटे हुए टुकड़े से आरोपियों का सुराग हासिल किया।

जरहाभाठा, बिलासपुर के करण रात्रे (18 वर्ष) अपने परिवार के सदस्यों के साथ मरही माता मंदिर दर्शन के लिये गया था। दर्शन के बाद वे दोपहर का खाना बना रहे थे। कुछ दूरी पर 8-10 लोग और बैठे थे जो शराब पीते हुए खाना बना रहे थे और जोर-जोर से गालियां देकर बात कर रहे थे। करण ने इस पर उन्हें गालियां देने से मना किया। उन लोगों ने करण रात्रे के साथ झगड़ा किया पर शांत हो गये। करीब दो घंटे बाद लोगों ने करण के साथ विवाद शुरू कर दिया।  
उन्होंने करण और उसके परिवार के लोगों पर अपने साथ लाये लाठी, डंडे और खाना बनाने के बर्तन तथा औजारों से हमला कर दिया। करण के साथ-साथ उनके साथ आई घर की तीन महिलाओं को भी पीटकर उन्होंने घायल कर दिया। कोटा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में करण को उपचार के लिये लाया गया लेकिन वहां उसे मृत घोषित कर दिया गया, वहीं महिलाओं को इलाज के लिये सिम्स में भर्ती कराया गया।

घटना की रिपोर्ट बेलगहना चौकी में दर्ज की गई। दिन-दहाड़े पीट-पीट कर की गई हत्या की गंभीर वारदात को देखते हुए पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल ने एएसपी ग्रामीण संजय ध्रुव, एसडीओपी रश्मित चावला व कोटा तथा रतनपुर के थाना प्रभारियों को सक्रिय किया। घटनास्थल पर ऐसा कोई भी सुराग नहीं मिला जिससे आरोपियों का पता लग सके। किसी ने इस घटना का वीडियो या तस्वीर भी नहीं ली थी। सिर्फ इतना मालूम हुआ कि आरोपी चार पहिया वाहनों में आये थे और घटना को अंजाम देकर फरार हो गये। आरोपियों की बोली पेन्ड्रा, शहडोल के लोगों की तरह थी यह भी जानकारी मिली।

घटनास्थल के पास पुलिस को मरही माता मंदिर से कटाई गई रसीद का एक छोटा सा टुकड़ा मिला, जो आरोपियों तक पहुंचने में मददगार साबित हुआ। इस टुकड़े में केवल दो अक्षर ‘गरी’ व तारीख 21/2 दिखाई दे रहा था। उस टुकड़े के सहारे मंदिर के रसीद से कॉपी ढूढ ली गई। पता चला कि यह डोंगरिया, वेंकटनगर, जिला जैतहरी मध्यप्रदेश के लोगों ने कटाई थी। पुलिस टीम बिना समय गंवाये जैतहरी एसपी को सूचना देकर गांव पहुंच गई। गांव में नकुल की खोज की गई, जिसके नाम पर रसीद काटी गई थी। पर नकुल घर पर नहीं मिला। पर वहां यह पता लग गया कि वह किन लोगों के साथ मरही माता मंदिर भनवारटंक गया था। पुलिस वहां से सुराग मिलने के बाद वेंकटनगर के ग्राम सिंहपुर तोला पहुंची। यहां से रवि चौधरी (45 वर्ष), कन्हैया चौधरी (40 वर्ष) तथा राम प्रसाद चौधरी (43) को गिरफ्तार कर लिया। वारदात में कुल 9 आरोपी शामिल हैं, जिनमें से 6 की तलाश जारी है।

अन्य पोस्ट

Comments