दुर्ग

सांकरा, चींचा और अचानकपुर तालाबों का बर्ड वाचिंग दृष्टि से होगा विकास
24-Feb-2021 6:36 PM 25
 सांकरा, चींचा और अचानकपुर तालाबों का बर्ड वाचिंग दृष्टि से होगा विकास

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

दुर्ग, 24 फरवरी। प्रवासी पक्षियों के डेरे के रूप में चर्चित बेलौदी में बर्ड वाचिंग जोन प्रस्तावित है। इस बर्ड वाचिंग जोन में अधिकाधिक पक्षियों को आकर्षित करने बेलौदी के आसपास के गांवों के वेटलैंड वाले सरोवरों का भी पक्षियों के रहवास के दृष्टिकोण से विकास किया जाएगा। इसके लिए सांकरा, चींचा और अचानकपुर जैसे गांवों के सरोवरों में पक्षियों की जरूरतों के मुताबिक सरोवर की स्थिति बनाये रखने एवं विकास के लिए अधिकारियों को कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिये गए।

उल्लेखनीय है कि पक्षियों का बसेरा वेटलैंड वाली जगहों पर होता है और ऐसी जगहों पर उपयुक्त वनस्पतियों की उपस्थिति से इन्हें बसाहट में सुविधा होती है। बेलौदी की बसाहट को अधिक उपयोगी बनाने के लिए तथा अधिकाधिक स्पीशीज को आकर्षित करने नजदीकी गांवों के प्रवासी पक्षियों की दृष्टि से उपयोगी वेटलैंड के विकास पर भी ध्यान दिया जाएगा। इसके लिए जलसंसाधन विभाग के अधिकारियों को कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने बैठक में निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि वन विभाग बेलौदी में बर्ड वाचिंग जोन की जरूरतों के अनुरूप कार्ययोजना तैयार कर रहा है। पक्षियों के लिए जितना अनुकूल माहौल होगा, उनकी बसाहट की संभावनाएं उतनी ही बढ़ेंगी। बैठक में डीएफओ धम्मशील गणवीर ने प्रस्तावित पौधरोपण के कार्यों के बारे में विस्तार से अधिकारियों को बताया तथा अपनी जरूरत भेजने कहा। इस दौरान जिला पंचायत सीईओ सच्चिदानंद आलोक, अपर कलेक्टर प्रकाश सर्वे, बीबी पंचभाई सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

कलेक्टर ने कहा कि कोरोना का खतरा अभी बना हुआ है। इसके रोकथाम के संबंध में पूर्ववत सजगता से कार्य करते रहें। उन्होंने टीकाकरण का लक्ष्य समय पर पूरा करने के निर्देश अधिकारियों को दिये। उन्होंने कहा कि कोरोना से बचाव के लिए टीका अहम है। यह पूरी तरह से सुरक्षित है। इसके लिए शेड्यूल निर्धारित किये गए हैं। शेड्यूल के मुताबिक फ्रंटलाइन कोरोना वारियर्स को टीका समय पर लगाना सुनिश्चित करें।

अन्य पोस्ट

Comments