बस्तर

जीएसटी के विरोध में बस्तर चेम्बर ऑफ कॉमर्स के व्यापारियों का बंद 26 को
24-Feb-2021 9:01 PM 39
  जीएसटी के विरोध में बस्तर चेम्बर ऑफ कॉमर्स के व्यापारियों का बंद 26 को

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

जगदलपुर, 24 फरवरी । जीएसटी के कड़े प्रावधानों के विरोध में कैट के द्वारा 26 फरवरी शुक्रवार को देश में व्यापार बंद का आह्वान किया है। बस्तर चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज जगदलपुर ने भी इस विरोध को अपना समर्थन देते हुए  बस्तर संभाग के सभी व्यापारियों से अनुरोध किया है कि 26 फरवरी को अपना व्यापार बंद रखकर जबरदस्त विरोध प्रदर्शन करें। देश के 40,000 से अधिक संस्थाओं ने इस विरोध को अपना पूर्ण समर्थन देकर, देश के आठ करोड़ व्यापारियों ने अपना व्यापार बंद रखकर विरोध प्रदर्शन करने का फैसला लिया है।

 बस्तर चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष किशोर पारख ने बताया कि जीएसटी में अनेक संशोधन हुए हैं,तथा इन संशोधनों की वजह से टैक्स प्रणाली सरल होने के बजाय दुविधा पूर्ण बन गई है। व्यापारी की एक छोटी सी गलती पर उन्हें लाखों रुपए पेनाल्टी के रूप में वसूले जा रहे हैं। इतना ही नही बिल को लेकर व्यापारीयो का माल और ट्रक भी जप्त हो सकता है। यहाँ तक कि अधिकारियों को यह भी अधिकार दे दिया गया है, कि वह बिना किसी सुनवाई के या बिना किसी नोटिस के आपका जीएसटी पंजीयन रद्द कर सकते हैं। और तो और जीएसटी स्टेटमेंट के विरुद्ध व्यापारियों को अपील करने की भी सुविधा नहीं है तथा उसे अपील के लिए अदालत जाना पड़ता है। इसी प्रकार के प्रावधानों के विरोध में बस्तर संभाग के व्यापारी अपना व्यवसाय बंद रखेंगे। बस्तर जिले के साथ-साथ कोंडागांव,  नारायणपुर, सुकमा, बीजापुर और दंतेवाड़ा में भी व्यापारी अपना व्यवसाय बंद रखकर विरोध प्रदर्शन करेंगे।

बस्तर चेंबर ऑफ कॉमर्स के स्थानीय क्षेत्र के पदाधिकारी तथा सदस्य इस बंद को सफल बनाने हेतु प्रयासरत हैं। संभाग मुख्यालय जगदलपुर में गोल बाजार चौक में सुबह 9 बजे से धरना प्रदर्शन तथा 3 बजे बाइक रैली नगर के प्रमुख मार्गों से निकालते हुए,कलेक्टर ऑफिस पहुँचकर जिला कलेक्टर को प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा जाएगा। लोगों की जरूरत को ध्यान में रखते हुए,इंडस्ट्रीज ने उपभोक्ताओं से निवेदन किया है कि वे अपने जरूरत के सामान पहले ही ले लें। क्योकि 26 फरवरी को आवश्यक सेवाओं के अलावा सभी व्यापार पूर्णत:बंद रहेंगे ।

अन्य पोस्ट

Comments