रायपुर

किराए का हेलिकॉप्टर, सुरक्षा मानकों की अनदेखी का आरोप
02-Mar-2021 5:42 PM 35
 किराए का हेलिकॉप्टर, सुरक्षा मानकों की अनदेखी का आरोप

मुख्यमंत्री ने कहा-किसी तरह की ढील नहीं दी जाएगी

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 2 मार्च। विधानसभा में मंगलवार को सरकार के द्वारा किराए पर लिए गए हेलिकॉप्टर में सुरक्षा मानकों की अनदेखी पर सवाल उठाए गए। पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह के सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि एविएशन कंपनियों से पहले ही अनुबंध हुए थे। उन्होंने जोर देकर कहा कि सुरक्षा मानकों में ढील नहीं दी जाएगी।

प्रश्नकाल में पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह ने यह मामला उठाया। इसके जवाब में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बताया कि पिछले दो वर्षों में छह कंपनियों से 288 दिनों के लिए हेलिकॉप्टर किराए पर लिए गए। इस पर 14 करोड़ 40 लाख 26 हजार 684 रुपए का भुगतान हुआ है। दो एविएशन कंपनियों को एक करोड़ 72 लाख 98 हजार 310 रुपये का भुगतान शेष है। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि अनुबंध सूची में शामिल सीजी एविएशन एक प्रोपाइटर कंपनी है। किराए पर हेलिकॉप्टर देने के लिए (नान शेड्यूल्ड ऑपरेटर) परमिट होना चाहिए जो इस कंपनी के पास नहीं है। यह तो सुरक्षा पर गंभीर प्रश्न है।

इसके जवाब में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, एविएशन कंपनियों से यह अनुबंध 2013 में हुए थे। जिस कंपनी से बात हो रही है वह एनएसओपी परमिट वाली कंपनी से अनुबंधित है। भाजपा विधायक अजय चंद्राकर ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री आपकी सुरक्षा की चिंता कर रहे हैं। इस पर श्री बघेल ने कहा कि वे इसके लिए सभी को धन्यवाद देते हैं, जो इस ओर ध्यान दिलाया। इसकी समीक्षा कर ली जाएगी। सुरक्षा मानकों में कोई ढील नहीं होगी।

अन्य पोस्ट

Comments