बेमेतरा

मालिक के 3 वर्षीय बेटे को बचाने धधकते ईंट भट्टे में कूद गई महिला मजदूर, दोनों की मौत
03-Mar-2021 6:50 PM (839)
 मालिक के 3 वर्षीय बेटे को बचाने धधकते ईंट भट्टे  में कूद गई महिला मजदूर, दोनों की मौत

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बेमेतरा, 3 मार्च। अपने बच्चे के हमउम्र बच्चे प्रतीक प्रजापति (3) की जान को खतरे में देखकर मजदूर महिला ललिता ध्रुव (35) अपने जान की परवाह न करते हुए धधकते ईंटों के बीच कूद गई, लेकिन सिर पर सैकड़ों ईंट गिर जाने के कारण वह बाहर नहीं आ सकी और जलने से महिला व बच्चे की मौत हो गई। 

महिला बच्चे को अपनी आगोश में लेकर अंतिम सांस तक बच्चे को बचाने के लिए संघर्ष करती रही। इन्हें बचाने के लिए 5-6 लोगों ने कोशिश की, लेकिन वे सफल नहीं हो सके। महिला के साहसी कदम को लोगों ने नमन किया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले के नवागढ़ ब्लॉक के ग्राम पुटपुरा में मंगलवार की सुबह राजमणि पाड़े के ईटभ_े में मजदूरों द्वारा बनाए गए कच्चे ईंटों को पकाने के लिए आग लगाया था, तभी राजा प्रजापति का 3 साल का नाती प्रतीक प्रजापति खेलते हुए भ_े के पास पहुँच गया। उसी समय भ_े का एक हिस्सा धंसने लगा जिसे देखकर काम कर रही ललिता ध्रुव बच्चे को बचाने के लिए जलते ईंटों के बीच कूद गई , लेकिन दुर्भाग्यवश धधकते हुए सैकड़ों ईंट महिला व बच्चे पर गिर गया जिसके नीचे दबकर दोनों गंभीर रूप से जल गए। बच्चे का सिर व ऊपरी अंग पूरी तरह से जल गया। हादसे के दौरान दोनों को बचाने के फेर में राजमणि भी झुलसा है।

दोनों परिवार में छाया मातम

मृतक बालक के परिजन हादसे के बाद से सदमे में है। वहीं ललिता के परिवार में भी मातम छाया हुआ है। ललिता के दो छोटे-छोटे बच्चे हैं, जो अपनी माँ को बार-बार पुकारते व तलाशते नजर आए। सरपंच कुंभराम साहू ने बताया कि राजमणि का परिवार बीते 25 वर्षो से ईंट भ_ा लगाकर ईंट पकाने के काम करते आ रहा है, पर कल तक किसी प्रकार की घटना नहीं हुई थी , लेकिन आज हुई अनहोनी में दो लोगों की मौत हो गई।

चौकी प्रभारी राजेन्द्र कश्यप ने बताया की सुबह ईटभठ्ठे के धकसने से हुए हादसे में दो लोगों की मौत हुई है। मृतकों में एक 3 साल का बालक व एक 35 वर्षीय महिला सामिल है। पुलिस ने आवश्यक कार्यवाही कर मर्ग कायम कर विवेचना में लिया है।

अन्य पोस्ट

Comments