कोरिया

बैकुंठपुर की सीएमओ का तबादला
03-Apr-2021 5:34 PM (68)
बैकुंठपुर की सीएमओ का तबादला

विरोध में प्लेसमेंट कर्मियों ने काम बंद किया

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बैकुंठपुर, 3 अपै्रल।
मुख्य नगर पालिका अधिकारी बैकुण्ठपुर ज्योत्सना टोप्पो के स्थानांतरण आदेश जारी होने की जानकारी नपा में कार्य करने वाले प्लेसमेंट कर्मियों को हुई तो वे दूसरे दिन 2 अपै्रल को काम बंद कर हड़ताल पर बैठकर विरोध जताते हुए सीएमओ का स्थानांतरण रद्द किए जाने की मांग उठाई। 

विरोध में भारी संख्या में नगर पालिका कॉम्प्लेक्स के समक्ष एकजुट होकर बैठ गए वहीं डोर टू डोर कचरा कलेक्शन करने वाली महिलाओं व सफाई कर्मियों ने अपनी रिक्शा  एक लाईन से नपा कार्यालय के पास खड़ी कर विरोध जताया। 
प्लेसमेंट कर्मियों का कहना था कि जब से मैडम ने कार्यभार ग्रहण किया है उसके बाद से उन्हें नियमित रूप से प्रत्येक माह मानदेय का भुगतान हो रहा है। इसके पूर्व कभी समय पर मानदेय का भुगतान नहीं होता था। इसी वजह से सभी कर्मी स्थानांतरण रूकवाने के लिए हड़ताल पर बैठे और इस संबंध में अधिकारियों को ज्ञापन दिया।  

ज्ञात हो कि नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग के उप सचिव ने नगरीय प्रशासन के अधिकारियों का तबादला आदेश जारी किया गया जिसमें कोरिया जिला मुख्यालय बैकुंठपुर नगर पालिका के मुख्य नगर पालिका अधिकारी भी प्रभावित हुई है। 
जारी आदेश के अनुसार मुख्य नगर पालिका अधिकारी नपा परिषद बैकुण्ठपुर ज्योत्सना टोप्पो का स्थानांतरण इसी पद पर नगर पालिका सूरजपुर किया गया है वहीं कोरिया जिले के नगर पंचायत खोंगापानी में पदस्थ मुख्य नगर पालिका अधिकारी मुक्ता सिंह को मुख्यालय बैकुण्ठपुर का नया मुख्य नगर पालिका अधिकारी का दायित्व सौंपा गया है। वहीं नगर पालिका परिषद बैकुण्ठपुर में पदस्थ राजस्व उप निरीक्षक इशहाक खान को नगर पालिका परिषद मनेंद्रगढ़ स्थानांतरित करने का आदेश जारी किया गया। उक्त अधिकारी कर्मचारियों को नई स्थानांतरित स्थल पर सात दिवस के भीतर अपनी ज्वाईनिंग देनी है अन्यथा वेतन नहीं बनने का उल्लेख आदेश में किया गया है। 

उल्लेखनीय है कि मुख्य नगर पालिका अधिकारी बैकुण्ठपुर का स्थानंातरण होने के बाद शहर के कई लोगों ने खुशी व्यक्त की क्योंकि नियम कानून को लेकर मुख्य नगर पालिका अधिकारी के कड़े तेवर रहते थे जिसके चलते कई लोगों की मुुश्किलें हमेशा बनी रहती थी कि मैडम सुनती नहीं हैै। कांग्रेस के जिलाध्यक्ष भी लंबे समय से नाराज चल रहे थे, तो कुछ समय पूर्व भाजपा के पदाधिकारियों ने आयोजित धरना-प्रदर्शन के दौरान सीएमओ नपा बैकुण्ठपुर को लेकर भी अपनी संवेदनाओं को खुले मंच से व्यक्त किया था।

कोविड नियमों की अवहेलना
नगर पालिका के कर्माचरियों के विरोध-प्रदर्शन में कोविड नियमों का बिल्कुल ध्यान नहीं रखा गया। ऐसा तब हुआ जब कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। 
स्थानीय प्रशासन ने जारी विरोध को लेकर किसी भी तरह की कार्रवाई नहीं की, बल्कि ज्ञापन सौंपे जाने के समय भी भारी भीड़ पर कुछ नहीं कहा, जिससे कोरोना को लेकर प्रशासनिक सुस्ती की साफ देखने को मिली।
 

अन्य पोस्ट

Comments