कोरिया

मूलभूत सुविधाओं के लिए तरस रहे ग्रामीण
06-Apr-2021 5:55 PM (19)
मूलभूत सुविधाओं के लिए तरस रहे ग्रामीण

कांगे्रसियों को बताई समस्याएं

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बैकुंठपुर, 6 अप्रै्रल।
पूर्व जिला पंचायत सदस्य, वर्तमान में कांग्रेस पार्टी के राजीव गांधी पंचायती राज संगठन के जिला समन्यवक ग्राम मसर्रा पहुंचे। कुछ दिनों से वो भरतपुर के ग्रामीण क्षेत्रों में दौरा कर गोंड समाज के ब्लॉक इकाई का गठन कर रहे है। मसर्रा के ग्रामीणों ने उनसे अपनी समस्याएं बताई। ग्रामीणों ने उन्हें मौके पर ले जाकर आवागमन के साधनों के साथ बिजली की समस्या की जानकारी दी। उन्होंने ग्रामीणों को आश्वस्त किया है कि वो इस पर बात करेंगे। 

कोरिया जिले के दूरस्थ क्षेत्र भरतपुर के ग्राम मसर्रा के ग्रामीण कई परेशानियों से जूझ रहे हैं। इस गांव में सडक़ का अभाव है, ग्रामीणों की माने तो, वे कई बार सडक़ की मांग कर चुके हंै, परन्तु प्रशासन कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। कई मार्गों पर नदी नाले होने के कारण उन्हें बारिश में पार करके जाना होता है जो कि बेहद असुविधाजनक होता है, कई बार ग्रामीण बहते-बहते बच चुके हंै। सडक़ों के साथ कुछ छोटे बड़े पुल भी बनाए जाने की बेहद जरूरत है, इसके अलावा सबसे बुरी स्थिति बिजली की है, ग्रामीणों की माने तो उनके ग्राम में लगा सौर ऊर्जा प्लांट एक दो-घंटे बिजली दे पाता है, जिसके बाद उन्हें पूरी रात अंधेरे में रहकर गुजारना पड़ता है, बारिश में सौर ऊर्जा प्लांट पूरी तरह चार्ज नहीं हो पाता है, जिसके बाद सबसे ज्यादा परेशानी बारिश के दिनों में होती है। बारिश में बमुश्किल 1 घंटे ही बिजली रह पाती है।

आसपास एक जैसी स्थिति
मसर्रा के आसपास गांवों की स्थिति भी एक जैसी है, विकास के नाम पर यहां बीते लम्बे समय से कोई खास काम नहीं हो पाए है, मसर्रा से लगे ग्राम जैमुनिहा और सरंगवाह में भी सडक़, बिजली पुल की बेहद जरूरत है। ग्रामीणों का कहना है कि जिला प्रशासन के अधिकारी कभी इस ओर नहीं आते है, जिसके कारण आदिवासी क्षेत्रों के हाल की जानकारी किसी को नहीं हो पाती है। 

पहुंचे पूर्व जिला पंचायत सदस्य
पूर्व जिला पंचायत सदस्य, वर्तमान में कांग्रेस पार्टी के राजीव गांधी पंचायती राज संगठन के जिला समन्यवक शरन सिंह ग्राम मसर्रा पहुंचे। कुछ दिनों से वो भरतपुर के ग्रामीण क्षेत्रों में दौरा कर गोंड समाज के ब्लॉक इकाई का गठन कर रहे है। मसर्रा के ग्रामीणों ने उनसे अपनी आपबीती सुनाई। ग्रामीणों ने उन्हें मौके पर ले जाकर आवागमन के साधनों के साथ बिजली की समस्या की जानकारी दी। उन्होंने ग्रामीणों को आश्वस्त किया है कि वो इस पर  बात करेंगे। 
उनके साथ रामदास यादव, सुनील, ललित, छोटेलाल, माणिक चंद, राजकरण, वंशबहादूर सिंह, दिलकरण, राजूू समेत काफी संख्या में लोग उपस्थित थे।
 

अन्य पोस्ट

Comments