बिलासपुर

बिलासपुर में संक्रमण का रिकॉर्ड फिर टूटा, 689 नये मरीज मिले, 7 की जान गई
10-Apr-2021 11:59 AM (40)
बिलासपुर में संक्रमण का रिकॉर्ड फिर टूटा, 689 नये मरीज मिले, 7 की जान गई

  कोचिंग सेंटर में 300 बच्चे सटकर कर रहे थे पढ़ाई-सील  

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बिलासपुर, 10 अप्रैल।
जिले में एक कोरोना संक्रमण के मामलों ने लगातार तीसरे दिन रिकॉर्ड तोड़ा है। दो दिन तक छह सौ करीब नये मामले आ रहे थे अब यह 700 के करीब पहुंच गया है। इस बीच 7 मरीजों ने जान भी गंवाई है।

शहर के प्रायः सभी इलाकों में कोरोना के नए केस सामने आ रहे हैं। अनेक सरकारी दफ्तरों सहित हाईकोर्ट में भी नए मरीज मिले हैं। यूनिवर्सिटी कॉलेज और सिम्स हॉस्टल में भी कोरोना के नए मरीज मिले। लगभग सारे निजी और सरकारी अस्पतालों में मरीजों की भीड़ पहुंच रही है। लोग ऑक्सीजन बेड और वेंटिलेटर के लिए परेशान हो रहे हैं साथ ही इंजेक्शन रेमडेसिविर की कमी से भी जूझ रहे हैं।

नगर पंचायत मल्हार में बुधवार को 27, गुरुवार को 17 फिर शुक्रवार को भी 15 मरीज मिले हैं। नगर निगम सीमा के सिरगिट्टी इलाके में फिर 15 नए कोरोना संक्रमित मिले। यहां गुरुवार को 28 मरीज संक्रमित पाए गए थे। कोटा में 16 नए मरीज मिले हैं, वहीं रतनपुर में 13 संक्रमित पाए गए हैं। शहर के गंगानगर में 10 तथा 27 खोली में 55 मरीज पाये गये हैं। सीआरपीएफ भरनी, हेमू नगर तथा शुभम् विहार में चार-चार तथा नर्मदा नगर, मसानगंज, तेलीपारा और चांटीडीह में दो-दो नए मरीज मिले। सिम्स के गर्ल्स हॉस्टल में तीन और बॉयज हॉस्टल में दो कोरोना संक्रमित मिले हैं। हाईकोर्ट के 11 कर्मचारी कोरोना संक्रमित पाये गये हैं।

कोरोना संक्रमित 7 लोगों की जान नहीं बचायी जा सकी है। इनमें तीन बिलासपुर के तथा चार अन्य जिलों के मरीज हैं, जिनका यहां उपचार चल रहा था। शहर के जबड़ापारा निवासी बालकृष्ण की उम्र 23 वर्ष और सरकंडा के दीपक श्रीवास की उम्र 30 वर्ष थी जिनकी कोरोना से मौत हुई। शेष सभी मृतकों की उम्र 55 से 85 साल थी।

डीएमओ ऑफिस व पीएनबी सील
जिला विपणन अधिकारी सहित डीएमओ ऑफिस के 6 कर्मचारी कोरोना संक्रमित हो गए हैं। इन सभी कर्मचारियों का होम आइसोलेशन किया गया है। पूरे कार्यालय को सैनिटाइज करने के बाद सील किया गया है। इधर जिला पंचायत में भी कोरोना ने दस्तक दी है। यहां पर 60 कर्मचारियों का रैपिड टेस्ट कराया गया, जिनमें से चार संक्रमित पाए गए हैं। सभी की आरटीपीसीआर कराई गई है, जिसकी रिपोर्ट की प्रतीक्षा की जा रही है। तब तक इन्हें होम आइसोलेशन पर रहने के लिए कहा गया है। पंजाब नेशनल बैंक की दयालबंद शाखा में पांच कर्मियों की रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई है। इसके चलते बैंक को सील कर दिया गया है।

शंकर नगर स्थित शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में एक व्याख्याता व उनके परिवार के 5 लोग कोरोना की चपेट में आ गये। इसके बाद स्कूल बंद कर दिया गया।

कोचिंग सेंटर में 300 बच्चे मिले, सील
इस समय कोरोना संक्रमण के फैलाव के कारण कोचिंग सेंटर्स को बंद करने का निर्देश जिला प्रशासन ने दिया है। इसके बावजूद दयालबंद स्थित दिल्ली आईएएस अकादमी में एक साथ तीन सौ से अधिक बच्चों को बुलाकर कोचिंग दी जा रही थी। नगर निगम की टीम ने यहां छापा मारा तो पाया कि सेंटर की तीसरी मंजिल पर 300 से अधिक बच्चे एक दूसरे से सटकर बैठे थे और अनेक ने मास्क भी नहीं पहना था। तत्काल एकेडमी को सील करा दिया गया। इसके बाद शहर के अन्य कोचिंग सेंटर्स में भी नगर निगम ने दबिश दी। तीन अन्य में भी सेंटर चलते हुए पाया गया लेकिन उनमें कम विद्यार्थी थे। उन्हें चेतावनी देकर छोड़ दिया गया, साथ ही फिलहाल कोचिंग सेंटर नहीं खोलने कहा।

लॉकडाउन से बचने की कोशिश   
जिला प्रशासन की ओर से प्रयास किया जा रहा है कि लॉक डाउन की स्थिति से बचा जाये और कम कंटेनमेंट जोन हों। लोगों से कोरोना गाइडलाइन का पालन करने की उम्मीद की जा रही है पर बाजारों में रोजमर्रा के सामान के लिये लगातार भीड़ पहुंच रही है, जिससे संक्रमण का खतरा बढ़ रहा है। फिलहाल शाम 7 बजे तक बाजार बंद करने का निर्देश जारी किया गया है, जिसे घटाया जा सकता है। इस समय  मस्तूरी में दो और बिल्हा, कोटा, मल्हार के अलावा शहर के हेमू नगर लगरा और महमद कंटेनमेंट जोन बनाया गया है।  

संभागीय अस्पताल में 100 कोविड बेड बढ़ेंगे
मरीजों की बढ़ती हुई संख्या को देखते हुए संभागीय कोविड अस्पताल में 100 बिस्तर और बढ़ाए जाएंगे। इस समय वहां सौ बेड ही उपलब्ध हैं। इसके लिए एसईसीएल ने सीएसआर मदद से डेढ़ करोड़ रुपए देने का आश्वासन दिया है। विधायक शैलेष पांडे ने बताया की एसईसीएल ने उनके अनुरोध पर इसकी सहमति दी है। इसके पहले भी इस कोविड-19 हॉस्पिटल के लिए एसईसीएल ने दो करोड़ रुपये दिए थे।

इधर एनटीपीसी सीपत ने भी मदद के लिए हाथ बढ़ाया है। कार्यकारी निदेशक पद्मकुमार राजशेखरन कलेक्टर डॉ सारांश मित्तर को 30 लाख रुपए का चेक प्रदान किया। यह राशि पीपीई किट खरीदने और कोविड उपचार की अन्य सुविधाओं के लिये हैं। इस मौके पर मुख्य स्वास्थ्य एवं चिकित्सा अधिकारी डॉ प्रमोद महाजन भी उपस्थित थे।

लक्ष्य से कम लगा टीका
स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार इस समय 171 सेंटर में वैक्सीन लगाने का काम चल रहा है। प्रतिदिन 22 हजार 500 टीका लगाने का लक्ष्य रखा गया है। शुक्रवार को 18 हजार 456 लोगों ने टीका लगवाया इनमें से 18090 ने पहला और 366 ने दूसरा डोज लिया। सबसे ज्यादा 45 से 60 वर्ष के बीच वाले 12 हजार 484 लोगों ने पहला व 119 ने दूसरा टीका लगवाया। 60 वर्ष से अधिक उम्र के 5564 लोगों ने पहला और 178 लोगों ने दूसरा डोज लगवाया इसके अलावा कोरोना वारियर्स और फ्रंट लाइन वर्कर्स ने भी डोज लगवाये।

आयुर्वेदिक चिकित्सक देखेंगे आइसोलेशन
कोविड अस्पतालों में डॉक्टरों व अन्य स्टाफ पर बढ़ते बोझ को देखते हुए कलेक्टर ने कोरोना पॉजिटिव होम आइसोलेट मरीजों की देखरेख की जिम्मेदारी आयुर्वेदिक चिकित्सा विभाग को सौंप दी है। जिला आयुर्वेदिक अधिकारी डॉ एनके दुबे को इसका नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। आयुर्वेद चिकित्सा विभाग होम आइसोलेट मरीजों के लगातार इलाज और उनकी दवाइयां सुनिश्चित करेंगे। साथ ही उन्हें डिस्चार्ज करने का भी निर्णय लेंगे। इसके लिए आयुर्वेदिक चिकित्सा विभाग में टीम बनाई जा रही है।

अन्य पोस्ट

Comments