दन्तेवाड़ा

राजस्व मंत्री ने वीसी के जरिए कोरोना से बचाव एवं रोकथाम के उपायों की समीक्षा की
10-Apr-2021 9:06 PM (76)
 राजस्व मंत्री ने वीसी के जरिए कोरोना से बचाव एवं रोकथाम के उपायों की समीक्षा की

  सामाजिक और व्यापारिक संस्थाओं के लोगों से सहयोग करने की अपील   

दंतेवाड़ा, 10 अप्रैल। राजस्व एवं आपदा प्रबन्धन, पुनर्वास, वाणिज्यिक कर (पंजीयन एवं मुद्रांक) मंत्री तथा दंतेवाड़ा जिले के प्रभारी मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने आज वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए जिले में कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम के लिए किए जा रहे प्रयासों की समीक्षा की।

श्री अग्रवाल ने जिले के कोविड केयर सेंटरों में बेड की उपलब्धता, ऑक्सीजन युक्त बेड, कोविड केयर सेंटरों में बिजली, पानी आदि मूलभूत सुविधाओं की व्यवस्था सहित कोरोना टीकाकरण की प्रगति की जानकारी ली। उन्होंने कोरोना बचाव एवं नियंत्रण के लिए अभी तक हुए कार्यों  की प्रशंसा की और अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। साथ ही शासन के गाईड लाइन के कड़ाई से पालन कराते हुए लोगों को कोरोना वायरस के प्रति जागरूक करने पर बल दिया।

    मंत्री श्री अग्रवाल ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए जिले के सामाजिक संगठन और चेम्बर ऑफ कॉमर्स के पदाधिकारियों से भी चर्चा की। उन्होंने कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव व रोकथाम के लिए इन संस्थाओं को सहभागिता प्रदान करने की अपील की। वर्चुअल बैठक में विधायक देवती महेंद्र कर्मा, सचिव अविनाश चम्पावत, जिला पंचायत अध्यक्ष तुलिका कर्मा, जिला पंचायत उपाध्यक्ष सुभाष सुराना, जिला पंचायत सदस्य सुलोचना कर्मा, वरिष्ठ नागरिक विमल सुराना एवं जिला कांग्रेस अध्यक्ष अवधेश गौतम भी उपस्थित थे। साथ ही बैठक में धाकड़ समाज से बीरबल सिंह, गौड़ समाज से इतवारी सिंह मंडावी, हल्बा समाज से भुनेश्वर भारद्वाज, कंवर समाज से श्री आर एन सोरी, चेंबर ऑफ कामर्स के अध्यक्ष मौजूद थे।

वर्चुअल बैठक में कलेक्टर दीपक सोनी ने बताया कि जिले में 1053 बेड मौजूद हैं, आगामी 15 दिन में 400 और बेडों कि उपलब्धता हो जाएगी। 1053 बेडों में आक्सीजन सपोर्ट वाले 178 बेड है। हाई डिफेडेंसी यूनिट वाले 25, आई सी यू 30 एवं 11 वेंटिलेटर उपलब्ध हैं।  जिला स्तरीय कन्ट्रोल रूम भी स्थापित किया गया है। मरीजों को काल करके फॉलोअप लिया जा रहा है। वर्तमान में जिला चिकित्सालय, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, उप स्वास्थ्य केन्द्र स्तर पर कोविड टेस्टिंग सेंटर संचालित है। वहां फीवर क्लिनिक भी संचालित किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त प्रत्येक विकासखंड में मोबाइल चलित दल उपलब्ध है, जो भ्रमण कर कोविड टेस्टिंग कर रहे हैं। इसके अतिरिक्त बाजार, सब्जी मंडी, बैंक, मिल इत्यादि स्थानों पर भी सतत् शिविर लगाकर कोविड टेस्टिंग की जा रही है। जिले में अब तक 01 लाख 27 हजार से भी ज्यादा कोविड टेस्टिंग की जा चुकी है। दवाइयां पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है। राज्य से प्राप्त वैक्सीन उपलब्धता के आधार पर 45 वर्ष से अधिक उम्र के पात्र नागरिकों को कोरोना का टीकाकरण लगाया जा रहा है।

जिले में अब तक 31 हजार 554 नागरिकों को  टीका लगाया जा चुका है।

अन्य पोस्ट

Comments