दुर्ग

वेंटिलेटर व आईसीयू उपकरण की व्यवस्था के लिए सरकार को केंद्र से अविलंब मदद मांगनी चाहिए-संतोष
13-Apr-2021 8:43 PM (27)
वेंटिलेटर व आईसीयू उपकरण की व्यवस्था के लिए सरकार  को केंद्र से अविलंब मदद मांगनी चाहिए-संतोष

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
दुर्ग, 13 अप्रैल।
जिला भाजपा उपाध्यक्ष संतोष सोनी ने दुर्ग व रायपुर सहित प्रदेश के अन्य जिला में वेंटिलेटर व अन्य आईसीयू उपकरण की त्वरित व्यवस्था करने के लिए प्रदेश सरकार को केंद्र सरकार से अविलम्ब मदद मांगने की अपील की है। 

संतोष सोनी ने कहा कि दुर्ग जिला सहित प्रदेश के अन्य जिला में चिकित्सा व्यवस्था को तुरंत दुरुस्त करने की आवश्यकता है, क्योंकि पिछले एक सप्ताह से दुर्ग से लेकर रायपुर तक किसी भी अस्पताल में आईसीयू में जगह नही मिल पा रही है और पिछले दो दिनों में चिकित्सा व्यव्स्था की स्थिति बद से बदतर हो चुकी है।

अब क्रिटिकल मरीजों की संख्या राज्य में उपलब्ध वेंटिलेटर व आईसीयू बेड के अनुपात से दोगुनी हो चुकी है पर प्रदेश सरकार उस गति व अनुपात से अब तक इंफ्रास्ट्रक्चर न तैयार कर सकी है न ऐसा लग रहा है कि कर पायेगी। नतीजतन गम्भीर मरीज वेंटिलेटर के लिए तरस रहे हैं और लगातार उनकी मौतें बड़ी संख्या में हो रही है। 

दुर्ग जिला अस्पताल व जिला प्रशासन द्वारा संचालित कचांदुर के चंदूलाल कोविड आइसोलेशन सेंटर में अनेक मरीजों को ऑक्सीजन सपोर्ट से हटाकर वेंटिलेटर सपोर्ट दिए जाने की नितांत जरूरत है पर उनके लिए वेंटिलेटर   उपलब्ध ही नहीं है ऐसी स्थिति में रीज के परिजन मन मसोस के और खून के घूंट पीकर अपने जान के टुकड़े को मरता हुआ देखने को मजबूर हैं।

ऐसे ही दुर्ग भिलाई के अनेक घरों में होम आइसोलेशन में पड़े हुए मरीजों का आक्सीजन लेवल खतरे के निशान तक आ गया है और उनके परिजन उस मरीज को अपनी गाड़ी में ले कर अस्पताल दर अस्पताल दौड़ लगा रहे हैं और उन्हें काफी मशक्कत के बाद ऑक्सीजन वाला बेड भी मुश्किल से मिल रहा है। 

लोग बुरी तरह से हताश और बदहवासी की हालत में भटकने को मजबूर हो रहे हैं। जिला प्रशासन व मुख्य चिकित्सक के हाँथ पांव अब फूल गए हैं और जरूरतमंद मरीजों को वेंटिलेटर वाला बिस्तर उपलब्ध कराना उनके बस के बाहर की बात हो चुकी है। प्रायवेट अस्पतालों को भी ऑक्सीजन सिलेंडर मिलने में दिक्कत जा रही है, अब नए ऑक्सीजन प्लांट लगाये जाने की नितांत आवश्यकता है।

अभी अन्य जिलों में दुर्ग रायपुर जैसी स्थिति नहीं आई है तो ये हाल है, प्रदेश के अन्य जिलों में भी अब कोविड मरीजों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ते जा रही है अब डर इस बात का है कि उन जिलों में भी ऐसी स्थिति निर्मित हो गई तो क्या हाल होगा। 

संतोष सोनी ने कहा कि प्रदेश के मुखिया भूपेश बघेल जी को जनता के हित को सर्वोपरि मानते हुए दलगत राजनीति की भावना से ऊपर उठ कर देश के प्रधानमंत्री जी से तुरंत मदद मांगनी चाहिए एवं प्रदेश व केंद्र को मिल कर निरीह जनता के लिए वेंटिलेटर जैसे जरूरी मँहगे उपकरण सहित प्रायवेट अस्पतालों में ईलाज हेतु प्रत्येक कोविड मरीज हेतु राहत पैकेज जारी करना चाहिए क्योंकि प्रति दिन बीस से तीस हजार का खर्च पंद्रह से बीस दिन तक वहन करना किसी के बस की बात नहीं है। 

संतोष सोनी ने विश्वास जताया कि यदि मुख्यमंत्री जी इस दिशा में सकरात्मक कदम उठाएंगे तो प्रदेश व केंद्र दोनों मिलकर जरूरी इंफ्रास्ट्रक्चर सहित रेमडेसीवीर इंजेक्शन की किल्लत दूर कर लेंगे जो कि प्रदेश की जनता के सर्वथा हित में रहेगा। 
 

अन्य पोस्ट

Comments