कोण्डागांव

गांव की ओर पैर पसार रहा है कोरोना
19-Apr-2021 6:49 PM (26)
 गांव की ओर पैर पसार रहा है कोरोना

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
कोंडागांव/विश्रामपुरी, 19 अपै्रल।
कोरोना धीरे-धीरे शहर से गांव की ओर पैर पसारता दिख रहा है। गांव में एक ओर कोरोना का खौफ दिखाई दे रहा है, तो वही शहर एवं कस्बाई क्षेत्रों में लापरवाही बढ़ती दिख रही है।

कोरोना के दूसरी लहर मे बडेराजपुर विश्रामपुरी के कई कार्यालयों में कोरोना अपनी पहुंच बना चुका है। जनपद कार्यालय बड़ेराजपुर के सीईओ कोरोना संक्रमित पाए गए तो वही सामुदायिक चिकित्सा केंद्र विश्रामपुरी में चिकित्सक, नर्स से लेकर बीपीएम भी कोरोना संक्रमित हुए हैं। इसके अलावा खंड शिक्षा कार्यालय में भी एक कलर्क के कोरोना संक्रमित होने से हडक़ंप मचा हुआ है। इसके अलावा ग्रामीण क्षेत्र में अब तक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सलना के अंतर्गत 6 मरीज होम आइसोलेशन पर हैं। वही प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बासकोट के अंतर्गत भी 5 मरीज होम आइसोलेशन पर हैं ।विश्रामपुरी ब्लॉक में अब तक 60 लोगों को कोरोना की पुष्टि हुई है जिसके चलते यहां अब लोगों ने सावधानी एवं सतर्कता बरतना शुरू कर दिया है। 
प्रमुख साप्ताहिक बाजार बंद रहे
बढ़ते संक्रमण के चलते केशकाल, धनोरा, विश्रामपुरी, गमरी आदि प्रमुख बाजारों में कोरोना का खौफ साफ दिखाई दिया। विश्रामपुरी में बुधवार एवं शनिचरी बाजार पूर्णतया बंद रहे। बाजार स्थल से लेकर विश्रामपुरी के व्यापारिक प्रतिष्ठान शनिवार को भी पूर्ण रुप से बंद रहे। तितरवंड का मड़ई में रस्म अदायगी के नाम पर देवताओं की पूजा अर्चना की गई।  मंगलवार को बासकोट एवं बुधवार को विश्रामपुरी का मेला का आयोजन है जहां पर कुछ लोग उपस्थित होकर रस्म अदायगी करेंगे।

केशकाल में दिखी लापरवाही 
गांव में कोरोना का खौफ तो दिखाई दे रहा है किंतु शहरी क्षेत्र केशकाल में लापरवाही कम होने का नाम नहीं ले  रही है। यहां दुकानें 3 बजे तक खोली जानी है किंतु 3 बजे के बाद भी कई दुकानदार पिछले गेट से दुकान चलाते हैं। इन दिनों शादी ब्याह का सीजन भी चल रहा है जिसके चलते ग्रामीण  सोने चांदी से लेकर शादी में दिए जाने वाले सामान पलंग सोफा अलमारी फ्रिज कूलर आदि के लिए लोग पहुंचते हैं। जहां दुकानों मे नियम टूट जाते हैं।

 पूर्व में कोरोना के पहले फेज में जहां कोई एक व्यक्ति भी कोरोना पॉजिटिव पाया जाता था, तो उस पूरे क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन घोषित किया जाता था किंतु केशकाल में अभी यह स्थिति है कि यदि दुकानदार भी कोरोना का गंभीर मरीज निकले तो दुकानदार तो स्वयं अस्पताल में भर्ती हो जाता है किंतु दुकान खुली रहती है। दुकानों को सेनेटाइज तक नहीं किया जाता। जिससे संक्रमण की आशंका बढ़ जाती है। केशकाल के एक प्रमुख हार्डवेयर दुकानदार एवं उसके पूरे परिवार कोरोना संक्रमित पाया गया, किंतु दुकान एक दिन भी बंद नहीं हुई। रिश्तेदार एवं अन्य लोग दुकान संचालन करते रहे। जिससे लोगों में तरह-तरह की चर्चाएं होती रही। लोग यह कहते रहे कि केशकाल में इस स्थिति में संपूर्ण रूप से लाकडाउन कर देना चाहिए। शायद प्रभावशाली लोग इसमें आड़े आ रहे हैं।

प्रशासनिक अमला कोरोना के नियमों का उल्लंघन करने वालों पर सतत निगरानी रख रही है।  केशकाल बस स्टैंड के पास प्रशासन लगातार चेकिंग कर रहा है। वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में घूम घूम कर लोगों को सतर्क किया जा रहा है। रविवार को बड़े राजपुर क्षेत्र में बेवजह घूमने एवं मास्क नहीं लगाने वाले 30 लोगों के ऊपर कार्यवाही की गई है। इस कार्य में एसडीएम डीडी मंडावी थाना प्रभारी केशकाल भीमसेन यादव, तहसीलदार राकेश साहू ,विश्रामपुरी तहसीलदार आशुतोष शर्मा, विश्रामपुरी थाना प्रभारी रवि शंकर ध्रुव लगातार गश्त कर रहे हैं।
इस संबंध में एसडीएम केशकाल डीडी मंडावी ने बताया कि नियम तोडऩे वालों के खिलाफ लगातार कार्यवाही की जा रही है।
 

अन्य पोस्ट

Comments