बस्तर

प्रदेश में कोरोना के बढ़ते आंकड़ें, राज्य सरकार दोषी- केदार
19-Apr-2021 10:09 PM (49)
 प्रदेश में कोरोना के बढ़ते आंकड़ें, राज्य सरकार दोषी- केदार

   24 को अपने घरों के सामने विरोध में बैठेंगे भाजपा कार्यकर्ता   

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

जगदलपुर, 19 अप्रैल।  वर्चुवल पत्रवार्ता को संबोधित करते हुए भाजपा प्रदेश प्रवक्ता केदार कश्यप ने प्रदेश कांग्रेस सरकार पर कड़ा प्रहार करते हुए कहा कि वैश्विक कोरोना महामारी में छत्तीसगढ़ भयंकरतम् दौर से गुजर रहा है, और संक्रमण में पहले नंबर पर आ गया है। प्रदेश में संक्रमितों का आंकडा़ 6 लाख पहुंचने वाला है,रिकवरी रेट घटकर 74 प्रतिशत हो गया है। 5 हजार से अधिक लोग की अकाल मृत्यु हो चुकी है।

प्रदेश के यह भयावह हालात कांग्रेस राज्य सरकार के कुशासन व कुप्रबंधन के कारण बन रहे है। इस सरकार ने समय रहते पर्याप्त कदम नहीं उठाये। मुख्यमंत्री व स्वास्थ्य मंत्री की आपसी लडा़ई के कारण आज पूरा प्रदेश जल रहा है। असम से आये लोगों की मेहमाननवाजी में सरकार लगी है। अफसोसजनक बात है कि विपक्षी भाजपा द्वारा सुझाव देने पर भी अहंकारी मुख्यमंत्री के अमर्यादित बयान सामने आते हैं। श्री कश्यप ने कहा कि कांग्रेस के कारण ही आज छत्तीसगढ़ इतनी बदतर स्थिति में पहुंच गया है। रोज कोरोना से सैकड़ों मौतें हो रही है और राज्य सरकार आंख,कान बंद किये बैठी है। मौत के आंकड़े छिपाये जा रहे है। प्रदेश के सबसे अस्पताल के डॉक्टरों को कोरोना काल में हड़ताल में जाने विवश होना पड़ रहा है,यह राज्य सरकार का कोरोनो की विरूद्ध खोखली लडा़ई का असली चेहरा है। कोरोना से बचाव के लिये बनाये गये भारतीय टीके पर भी राज्य सरकार ने राजनीति की।दुर्भावना से ग्रस्त होकर वैक्सीन की विश्वसनीयता पर सवाल उठाये,केन्द्र सरकार द्वारा समय पर दी गयी वैक्सीन लौटा दी।ऐसा न किया गया होता तो आज छत्तीसगढ़ निवासियों का टीकाकरण लगभग पूर्णता की ओर पहुँच गया होता। श्री कश्यप ने कहा कि रमडेसिलर इंजेक्शन की कमी व कालाबाजाऱी प्रदेश में हो रही है और प्रदेश सरकार इस विषय पर भी मौन है,मानो इसमें उसका संरक्षण प्राप्त हो। कोरोना से लडऩे सर्वदलीय बैठक में भी कांग्रेस की निंदनीय राजनीति दिखायी देती है।

श्री कश्यप ने कहा कि कोरोना संक्रमण व लॉक डाऊन के बीच असम के विधान सभा प्रत्याशियों को चित्रकोट के रेस्टहाऊस में ठहरा कर पर्यटन भ्रमण राज्य सरकार कराती है, मामला उजागर होने पर उसे झूठा कहा जाता है।बाद में बेशर्मी से यह बात स्वीकार ली जाती है। यह कांग्रेस राज्य सरकार की कोरोना से लडऩे की कैसी व्यवस्थायें हैं। जिले के ग्राम चपका में कोरोना संक्रमण के बीच लाक डाउन के नियमों को तोड़ कर राज्य शासन के निर्देश पर जनसुनवाई करवायी जाती है। ग्रामीणों के विरोध पर उनके विरूद्ध एफआईआर दर्ज हो रहे है। लाकडाउन के आड़ मे राज्य सरकार ग्रामीण आदिवासियों की ज़मीनें हड़पने का षडय़ंत्र रचने में लगी है।

भाजपा इसका पुरजोर विरोध करेगी। केदार कश्यप ने कहा कि कांग्रेस को प्रदेश की जनता को अपने कुकर्मों का हिसाब देना होगा।अपनी गलतियों पर पर्दा डालने राज्य सरकार केन्द्र को जि़म्मेदार ठहराने का कुत्सित प्रयास कर रही है। आगामी 24 अप्रैल को समूचे छत्तीसगढ़ प्रदेश में भाजपा कार्यकर्ता अपने निवास के समक्ष नियमों का पालन करते बैठेंगे व स्वास्थ्य सेवाओं की कमियों व भूपेश सरकार की असफलता को जनता के बीच लाने सवाल करेंगे। वर्चुवल पत्रवार्ता में भाजपा प्रदेश महामंत्री किरणदेव,भाजपा जिलाअध्यक्ष रूप सिंह मंडावी, डा.सुभाऊ कश्यप, संतोष बाफना,कमलचंद भंजदेव, योगेन्द्र पांडे, श्रीनिवास मिश्रा,रामाश्रय सिंह शामिल थे।

अन्य पोस्ट

Comments